भीड़ में मौजूद गुंडों को पीटने के लिए जब संजय दत्त हुए शर्टलेस देख भाग खड़े हुए लोग..

122
sanjay
sanjay

हिंदी फिल्मों में कदम रखने से पहले ही संजय दत्त ड्रग्स एडिक्शन के कारण चर्चा में रहे फिल्में आने के बाद नशे की हालत में राजेश खन्ना पर गोली चलाने की घटना से उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी थी कहा जाता है कि इन सभी घटनाओं के बाद संजय ने जब नशा छोड़ने का फैसला किया और अपने करियर पर ध्यान देना शुरू कर दिया तब पूरी दुनिया ने सोचा कि जूनियर दत्त ने अपने गुस्से पर काबू करना सीख लिया है हालांकि ऐसा नहीं था कि क्योंकि तभी साल 1990 में एक सनसनी मचा देने वाली एक बड़ी खबर सामने आई जिसे जान हर कोई काम गया था खबर थी की शूटिंग के दौरान भीड़ में मौजूद कुछ लोगों को मारने के लिए संजय दत्त ने गुस्से में तलवार निकाल ली और मारने की धमकी भी दे डाली है 90 के दशक में खबर आग की तरह फैल गई थी।

भीड़ में शामिल उन गुंडों ने संजय को भड़काया

दरअसल यह घटना नासिक में घटी थी संजय दत्त एक्ट्रेस फराह और सोनम के साथ फिल्म जीने दो की शूटिंग कर रहे थे बताया जाता है कि कई महत्वपूर्ण सीन ऐसे थे जो शहर की भीड़भाड़ वाले हिस्सों में फिल्माया जा रहा था वहां की भीड़ सुपर कुख्यात थी संजय जब भी अपना शार्ट शुरू करते थे तो वहां की जनता उन्हें चुनौती थी वे संजय की खराब एक्टिंग को लेकर भी कमेंट करते रहे बाद में भीड़ में मौजूद शरारती तत्वों की एक ग्रुप ने संजय के परिवार को लेकर व्यक्तिगत कमेंट करने लगे इसके साथ उन्होंने ताने देकर संजय को निशाना बनाना शुरू कर दिया ग्रुप ने फराह और सोनम को भी नहीं बख्शा बस क्या गुंडों की ताने और कमेंट सुनकर संजय अपना आपा खोने लगे और उस खास गुट को गुस्से से देखते रहे हद तो तब हो गई जब भीड़ में शामिल उन गुंडों ने संजय को भड़काया और मारपीट करने के लिए उन्हें उकसाने लगे उन गुंडों ने संजय से शूटिंग यूनिट से बाहर निकलने और फिल्मी हीरो की तरह उनसे लड़ने की धमकी देने लगे तब भी संजय दत्त शांत रहें और शूटिंग करते रहे अंत में शार्ट खत्म हुआ और वे उस दिन अपने होटल के कमरे में वापस चले गए अगले दिन वही गुंडे सुबह से संजय दत्त और उनकी टीम का इंतजार कर रहे थे इस बार उनकी तादाद ज्यादा थी।

रियल लाइफ छवि की तरह संजय ने अपनी शर्ट उतार दी

जहां संजय के लिए शूट करना और खुद को कुल रखना काफी मुश्किल था सौभाग्य से उस दिन उनके पास शूट करने के लिए बहुत कम सीन थे और दोपहर तक होने शूटिंग से छुट्टी मिल गई थी किसी तरह दिन गुजरा और शाम हुई तो वे गुंडे उन्हें फिर से परेशान करने लगे संजय यह जानते थे कि यह तब तक समाप्त नहीं होगा जब तक कि वह इनके खिलाफ कुछ गंभीर कदम नहीं उठाते वही फिर से संजय को लड़ने के लिए वह गुंडे उकसाने लगे इस बार संजय ने उनकी चुनौती स्वीकार की और अपनी शूटिंग सेट से बाहर कदम रखा इससे पहले कि वह गुंडे कुछ और कहते संजय ने 1 लंबी और चमकती हुई तलवार निकाली और अपने हाथ में पकड़ ली अपनी रियल लाइफ छवि की तरह संजय ने अपनी शर्ट उतार दी और चिल्लाना शुरू कर दिया उन्होंने लोगों को अपने सामने आने की चुनौती दी और कसम खाते हुए चेतावनी दी कि वह किसी को नहीं छोड़ेंगे संजय का गुस्सा देख मौजूद भीड़ भी डर गई वहीं पर गुंडे डर कर इधर-उधर भागने लगे 10 मिनट के अंदर शूटिंग सेट का माहौल पूरा बदल गया।