पूर्व सीएम अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने की साझा प्रेस वार्ता, 15 दिन में गन्ने के भुद्तान का किया वायदा

194
jayant chaudhary-akhilesh yadav
jayant chaudhary-akhilesh yadav

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में अखिलेश यादव और जयंत चौधरी ने जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. इस दौरान जयंत चौधरी ने कहा कि अखिलेश य़ादव के पास विजन, कार्य करने की क्षमता और अनुभव है. पूरी यूपी में आज अखिलेश यादव की ही धूम है. अखिलेश यादव ने कहा कि वह देरी से आने के लिए माफी मांगते हैं, उनके हेलीकॉप्टर को आगे नहीं बढ़ने दिया गया. वहीं जयंत चौधरी ने कहा कि बहुत लोगों को संशय था कि संगम होगा की नहीं, लेकिन संगम तो हो चुका है. यूपी में आज एक ही चेहरा दिख रहा है.

अखिलेश यादव ने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने जो रास्ता दिखाया, चौधरी अजित सिंह और नेताजी ने जिस सरकार को जगाया, उस विरासत को वह जयंत चौधरी के साथ मिलकर आगे बढ़ा रहे हैं. अखिलेश यादव ने कहा कि यह चुनाव किसान और बेरोजगारी को लेकर है. अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी किसानों की रजामंदी के बिना तीन कृषि कानून लेकर आई थी, इसी वजह से उन्हें विरोध के बाद इन कानूनों को वापस लेना पड़ा. उन्होंने कहा कि सपा और आरएलडी कोई भी काले कानून उत्तर प्रदेश में लागू नहीं करने देगी. उन्होंने कहा कि सपा सरकार गन्ना किसानों का भुगतान 15 दिनों के भीतर करेगी.

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें पहले अपना संकल्प पत्र पढ़ना चाहिए. सपा अध्यक्ष ने बीजेपी के हर वादे को झूठा करार दिया. उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर में गंगा जमुनी तहजीब रही है, इस बार इस इलाके में सपा की एतिहासिक जीत होने जा रही है. अखिलेश यादव ने कहा कि कल तक वह टिकटों को लेकर सब तय कर लेंगे. वह जयंत चौधरी के साथ मिलकर टिकट फाइनल करेंगे.

अखिलेश यादव ने कहा कि सपा-आरएलडी मिलकर नेगेटिव पॉलिटिक्स को खत्म कर रही है. वहीं सपा अध्यक्ष ने चिकट बंटवारे को लेकर कहा कि सनाल ये नहीं है कि किसे टिकट दिया जा रहा है. इसके साथ ही अखिलेश यादव ने प्रयागराज में छात्रों को पीटे जाने का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि बीजेपी की वजह से बिहार और प्रयागराज में छात्रों को प्रताड़ित होना पड़ रहा है, लेकिन बीजेपी इस पर कोई बात ही नहीं करना चाहती है.

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि इस बार यूपी से बीजेपी का पलायन होगा. सीएम योगी पर हमलावर अखिलेश यादव ने कहा कि सभी ने देखा है कि किस तरह से बाबा का पलायन हुआ, अयोध्या से उन्हें घर पहुंचा दिया गया. वहीं उन्होंने बीजेपी नेताओं पर कोरोना महामारी फैलाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि इस बात पर चुनाव आयोग को तुरंत नोटिस जारी करना चाहिए.बीजेपी छोड़ सपा में शामिल हुए नेताओं पर अखिलेश यादव ने कहा कि इस मुकसान की भरपाई बीजेपी नहीं कर पाई है. अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में सपा सरकार बनने पर पुरानी पेंशन योजना बहाल की जाएगी.