योगी सरकार के मंत्री ने कसा तंज, कहा- पोस्टर हटाने के बाद बैकफुट पर आई समाजवादी पार्टी..

138

रामचरितमानस विवाद में यूपी की राजनीति में पिछले कुछ दिनों से पारा काफी बढ़ा दिया है सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान के बाद समाजवादी पार्टी और भाजपा में आरोप-प्रत्यारोप का भी दौर जारी है समाजवादी पार्टी के कार्यालय के बाहर कभी गर्व से कहो हम शुद हैं लेकिन पोस्टर नजर आ रहे हैं वहीं अब रामचरितमानस विवाद के बीच सपा अब इन सभी विवादों से किनारा करती नजर आ रही है पार्टी कार्यालय के बाहर लगे सभी पोस्टर को हटा दिए गए हैं इस पर योगी सरकार के मंत्री ने सपा को जमकर हमला बोला है।

पोस्टर हटाने के बाद बैकफुट पर आई समाजवादी पार्टी

दरअसल यूपी सरकार की कृषि राज्य मंत्री बलदेव सिंह ने रविवार को रामचरितमानस विवाद को लेकर पोस्टर हटाने के बाद बैकफुट पर आई समाजवादी पार्टी को लेकर बड़ा बयान दिया है वही राज्यमंत्री ओलाख ने एसपी सांसद शफीक उर रहमान के हिंदू राष्ट्र वाले बयान को लेकर भी प्रतिक्रिया दी है बिहार राज्य मंत्री बलदेव सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी को कई दिनों बाद अकल आई है किसी भी पार्टी या किसी भी समाज के कोई भी व्यक्ति को बगैर सोचे समझे किसी के भी धार्मिक समाज और ग्रंथ पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है आज उन्होंने पोस्टर हटा लिए हैं तो आज उन्हें बहुत देर बाद समझ आई है इसलिए उन्होंने ऐसा किया है वहीं एसपी सांसद शफीक उर रहमान वर्क के द्वारा ना रामराज्य कभी था ना है और ना कभी होगा वाले बयान पर मंत्री बलदेव सिंह ने प्रतिक्रिया दी बलदेव सिंह ने कहा कि मैं उनके बयान पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं क्योंकि उन्होंने आज तक कभी कोई अच्छा बयान नहीं दिया है क्योंकि वह हमेशा उल्टा समाज को तोड़ने वाला और शर्मिंदगी वाला बयान देते हैं।

वही अब्दुल्लाह आजम की विदाई की जाने पर यूपी सरकार के मंत्री बलदेव सिंह ने कहा कि यह कोर्ट का फैसला है और कोर्ट में 9 साल पहले यह मुकदमा दर्ज हुआ था या कोर्ट का फैसला है और हम लोगों को कोर्ट के फैसले का आदर करना चाहिए बता देगी सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से सभी जिलों के जिला अध्यक्ष और सांसद विधायकों को पत्र भेजकर धार्मिक मामलों पर बोलने से बचने की नसीहत दी थी अब सपा कार्यालय पर भी इस आदेश को अमलीजामा पहनाने की दिशा में पार्टी ने कदम बढ़ा दिए हैं।