ट्विटर ने पॉइजन पिल का किया इस्तेमाल, एलोन मस्क का कंपनी टेकओवर करना मुश्किल

382
Elon musk Vs Twitter
Elon musk buys Elon musk Vs TwitterTwitter

ट्विटर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने की एलन मस्क की क्षमता को सीमित करने के लिए पॉइजन पिल(Poison Pill) को अपनाया है. टेस्ला के CEO एलन मस्क इन दिनों माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर को खरीदने का ऑफर देने को लेकर चर्चा में हैं. इस बीच ट्विटर के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने मस्क को ट्विटर खरीदने से रोकने के लिए एक नया प्लान बनाया है. ट्विटर के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने पॉइजन पिल नाम की एक सीमित समय वाले शेयरहोल्डर राइट्स प्लान को अमल में लाया है जो एलन मस्क के लिए कंपनी का टेकओवर करना मुश्किल बना सकती है. ट्विटर ने शुक्रवार को कहा कि उसने पॉइजन पिल(Poison Pill) को अपनाया है जो अन्य शेयरधारकों को छूट पर अधिक शेयर बेचकर कंपनी में 15 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी रखने वाले किसी भी व्यक्ति को रोकने की क्षमता रखेगी.

क्या होता है पॉइजन पिल?

पॉइजन पिल (Poison Pill) किसी टारगेट कंपनी द्वारा उपयोग में लाई गई एक रक्षा रणनीति है, जिससे कि किसी अधिग्रहणकर्ता कंपनी द्वारा संभावित विद्वेषपूर्ण टेकओवर को रोका जा सके. कंपनी इस तरकीब का उपयोग सभावित अधिग्रहणकर्ता कंपनी के सामने उन्हें कम आकर्षक दिखाने के लिए करती हैं. जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है कि पॉइजन पिल यानी जहर की गोली ऐसी चीज होती है जिसे निगलना या स्वीकार करना बहुत मुश्किल होता है. हालांकि यह हमेशा किसी कंपनी की रक्षा करने के लिए पहला या सर्वश्रेष्ठ तरीका नहीं है. पॉइजन पिल आमतौर पर काफी प्रभावी होते हैं. पॉइजन पिल वर्तमान शेयरधारकों को डिस्काउंट पर अतिरिक्त शेयर खरीदने का अधिकार देता है, जिससे नई विद्वेषी पार्टी के स्वामित्व हितों को प्रभावी रूप से कम किया जा सके.

एलन मस्क के प्रयासों को झटका!

पॉइजन पिल(Poison Pill) प्लान को एलन मस्क के प्रयासों को एक बड़ा झटका देने की कोशिशों के तौर पर देखा जा रहा है. ट्विटर बोर्ड ने प्रेस रिलीज में कहा है कि ट्विटर का टेकओवर करने के लिए कानूनी रूप से गैर-बाध्यकारी प्रस्‍ताव आने के बाद इस योजना को अपनाया है. एलन मस्क ने 43 बिलियन डॉलर में ट्विटर को खरीदने का ऑफर दिया है. मस्क को पहले सोशल मीडिया कंपनी में बोर्ड में सीट का ऑफर दिया गया था, जिससे मस्क ने इनकार कर दिया था. बोर्ड में जगह का ऑफर से मना करने के बाद ही इस बात की संभावना जताई जा रही थी कि एलन मस्क कंपनी में हिस्सेदारी को बढ़ाने का विचार कर रहे हैं. उधर, एलन मस्क की पेशकश को ट्विटर के शेयरधारक और सऊदी अरब के प्रिंस अल वलीद बिन तलाल अल सऊद ने भी ठुकरा दिया है.