टोक्यो पैरालिंपिक: भाविना पटेल ने टेबल टेनिस में इतिहास रचते हुए फाइनल में बनाई जगह, गोल्ड मेडल जीतने से बस एक कदम दूर भारत

    408

    टोक्यो पैरालिंपिक में भारत अपना पहला गोल्ड मेडल जीतने के करीब पहुंच गया है. देश की टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल लगातार इतिहास रचते हुए इस स्पर्धा के फाइनल में पहुंच गई हैं, जिन्होंने चीन की मियाओ झांग को क्लास 4 वर्ग के कड़े मुकाबले में 3-2 से हराया. पटेल ने दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी को 7-11, 11-7, 11-4, 9.11, 11-8 से हराकर भारतीय खेमे में भी सभी को चौंका दिया.

    अब उनका सामना दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी चीन की यिंग झोउ से होगा. गुजरात के मैहसाणा जिले में एक छोटी परचून की दुकान चलाने वाले हंसमुखभाई पटेल की बेटी भाविना को पदक का दावेदार भी नहीं माना जा रहा था लेकिन उन्होंने अपने प्रदर्शन से इतिहास रच दिया.

    बारह महीने की उम्र में पोलियो की शिकार हुईं पटेल ने कहा, ‘जब मैं यहां आई तो मैने सिर्फ अपना शत प्रतिशत देने के बारे में सोचा था. अगर ऐसा कर सकी तो पदक अपने आप मिलेगा. मैंने यही सोचा था.’