सपा ने किया एमएलसी चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नामों का ऐलान

315
Samajwadi Party
Samajwadi Party

उत्तर प्रदेश में जल्द ही एमएलसी चुनाव होने जा रहे हैं. समाजवादी पार्टी ने MLC चुनाव के लिए पांच और जगहों से अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया है. पार्टी की तरफ से गोंडा, देवरिया, बलिया, गाजीपुर, सीतापुर से प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की गई है. गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान देवरिया से सपा उम्मीदवार के रूप में एमएलसी चुनाव लड़ेंगे. बता दें कि एमएलसी चुनाव को लेकर दो दिन पहले अखिलेश यादव ने दिल्ली में मैराथन बैठक की थी. बुधवार को 18 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया था.

बता दें कि 16 मार्च को समाजवादी पार्टी ने 18 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया था. आज पांच और सीटों से उम्मीदवारों का ऐलान किया गया है, जिनमें डॉ. कफील खान का नाम भी शामिल है. एमएलसी चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है.सपा की तरफ से बाराबंकी, जौनपुर. झांसी, लखनऊ, रामपुर, रायबरेली, आजमगढ़, मथुरा, वाराणसी, प्रतापगढ़ और आगरा से उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया था. आज गोंडा, देवरिया, बलिया, गाजीपुर, सीतापुर से भी प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया गया है. अब कुल मिलाकर 23 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का ऐलान सपा की तरफ से रिया जा चुका है.

23 सीटों पर सपा ने उतारे उम्मीदवार

दवेरिया से चुनाव लड़ेंगे डॉ. कफील खान
दो दिन पहले लखनऊ में समाजवादी पार्टी की बैठक में एमएलसी चुनाव को लेकर चर्चा की गई थी. सपा ने एमएलसी चुनाव के लिए डॉ. कफील खान को भी उम्मीदवार बनाया है. बता दें कि यूपी की 36 विधान परिषद की सीटों के लिए 9 अप्रैल को मतदान होगा. 100 सीटों वाले विधान परिषद में फिलहाल 35 एमएलसी बीजेपी के हैं. सपा भी तरफ से आज पांच और उम्मीदवारों का ऐलान किया गया है.

6 साल के लिए होता है विधान परिषद सदस्य का कार्यकाल
बता दें कि जिन 36 सीटों पर चुनाव होने जा रहा है, उनमें सपा के 33 एमएलसी चुने गए थे. सात लोग सपा छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे. बता दें कि विधान परिषद के सदस्य का कार्यकाल 6 साल के लिए होता है. इनके एक तिहाई सदस्यों का विधायक चुनते हैं, तो वहीं एक तिहाई सदस्यों को नगर निगम, नगर पालिका, जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत के सदस्य चुनते हैं. स्थानीय निकाय कोटे की 36 सीटों पर 9 अप्रैल को चुनाव होंगे. जब कि विधायक कोटे की 15 सीटों पर जुलाई से पहले वोटिंग होनी है.