विराट के कप्तानी छोड़ने पर सौरव गांगुली ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मैं सरप्राइज था, बोर्ड की तरफ से नहीं था कोई दबाव

216

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और ओमान (Oman) की सरजमीं पर टी20 विश्व कप-2021 (T20 World Cup-2021) की शुरुआत हो चुकी है. भारत को अपना पहला मैच 24 अक्टूबर को दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ खेलना है. इस विश्व कप से पहले ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने बता दिया था कि वह आईसीसी की इस टूर्नामेंट के बाद टी20 में भारतीय टीम की कप्तानी छोड़ देंगे. इसने कई लोगों को हैरान किया था. बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) भी इसमें शामिल हैं. गांगुली ने कहा है कि जब उन्हें विराट के कप्तानी छोड़ने के फैसले के बारे में पता चला तो वो हैरान रह गए. उन्होंने साथ ही कहा कि बोर्ड ने कोहली पर कप्तानी छोड़ने का दबाव नहीं बनाया और यह उनका खुद का फैसला था.

गांगुली ने कहा कि वह विराट के कप्तानी छोड़ने के फैसले को समझते हैं. भारत के पूर्व कप्तान ने साथ ही कहा कि भारत जैसे देश की कप्तानी तीनों प्रारूपों में करना आसान नहीं है. गांगुली ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, “विराट कोहली ने जब टी20 में भारतीय टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया तो मैं हैरान रह गया था. यह फैसला इंग्लैंड दौरे के बीच लिया जाना था और यह उनका फैसला था. हमारी तरफ से उन पर किसी तरह का दबाव नहीं था. हमने उनसे कुछ नहीं कहा. हम इस तरह से चीजें नहीं करते हैं क्योंकि मैं खुद खिलाड़ी रहा हूं इसलिए मैं समझता हूं. सभी प्रारूपों में इतने लंबे समय तक कप्तान रहना मुश्किल है.”

अंदर की बात अलग
गांगुली ने कहा, “मैं छह साल टीम का कप्तान रहा हूं. यह बाहर से अच्छा लगता है, सम्मान मिलता है, बाकी सब चीजें. लेकिन अंदर से आप काफी तपते हो और यह किसी भी कप्तान के साथ हो सकता है. सिर्फ तेंदुलकर या गांगुली या धोनी या कोहली के साथ नहीं. ये आने वाले कप्तान के साथ भी होगा. यह मुश्किल काम है.”

विराट की फॉर्म को लेकर कही ये बात
गांगुली ने विराट की फॉर्म पर भी अपनी बात रखी है और कहा है कि हर महान खिलाड़ी को इससे गुजरना होता है. हर खिलाड़ी अपने करियर में इस दौर से गुजरता है. उन्होंने कहा, “यह होता है. विराट 11 साल से खेल रहे हैं. हर सीजन अच्छा नहीं हो सकता. वह इंसान है मशीन नहीं. इसलिए मैं हैरान नहीं हूं, उनका ग्राफ ऊंचा गया और फिर नीचे आया. इसके बाद ये काफी ऊपर गया. आप विराट जैसे खिलाड़ी को इसी तरह से देखते हो. अगर आप लंबे समय तक खेलोगे तो इस तरह के उतार चढ़ाव आते रहेंगे.”