संसंद में जमकर बोली कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी, महिलाओं के मुद्दों पर बोली

304

कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के रायबरेली संसदीय क्षेत्र की सांसद सोनिया गांधी ने सीबीएसई की 10वीं कक्षा की परीक्षा के एक प्रश्नपत्र में आए एक गद्यांश का मामला लोकसभा में उठाया. उन्होंने इस गद्यांश को महिला-विरोधी बताते हुए बोर्ड से प्रश्नपत्र को वापस लेने और शिक्षा मंत्रालय से माफी मांगने की मांग की. इस आपत्तिजनक गद्यांश को लेकर विपक्षी सांसदों ने सदन में हंगामा भी खड़ा किया.

बता दें कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं कक्षा के अंग्रेजी के प्रश्नपत्र के अंशों में ‘लैंगिक रूढ़िवादिता’ को कथित तौर पर बढ़ावा दिए जाने और ‘प्रतिगामी धारणाओं’ का समर्थन करने संबंधी आरोपों के बाद विवाद खड़ा हो गया है. इसके चलते बोर्ड ने रविवार को इस मामले को विषय के विशेषज्ञों के पास भेज दिया.

शनिवार को आयोजित 10वीं की परीक्षा में प्रश्नपत्र में ‘महिलाओं की मुक्ति ने बच्चों पर माता-पिता के अधिकार को समाप्त कर दिया’ और ‘अपने पति के तौर-तरीके को स्वीकार करके ही एक मां अपने से छोटों से सम्मान पा सकती है’ जैसे वाक्यों के उपयोग को लेकर आपत्ति जताई गई है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने भी यह मुद्दा ट्विटर के माध्यम से उठाया.