संजय राउत का छलका दर्द, बोले- 2000 करोड़ खर्च कर हमसे छीना गया ‘धनुष-बाण..

122
Shivsena MP Sanjay Raut

चुनाव आयोग के एक फैसले से महाराष्ट्र की राजनीति में इन दिनों बवाल मचा हुआ है. एक तरफ जहां शिंदे गुट खुशी से समा नहीं रहा है. वहीं उद्धव गुट और उनके नेता चुनाव आयोग के साथ-साथ केंद्र सरकार को कोस रहे हैं. हाल ही में चुनाव आयोग ने शिवसेना का चुनाव चिन्ह और पार्टी का नाम शिंदे गुट को सौंप दिया, जिससे उद्धव गुट के नेता नाराज हो गए और तल्ख टिप्पणी करने लगे. इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी चुनाव आयोग के कदम को सही ठहराया तो उद्धव गुट के नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने टिप्पणी की.

चुनाव निशान और नाम छीनने के लिए 2000 करोड़ का लेन-देन

दरअसल संजय राउत ने कहा, ‘मैंने ट्वीट कर बताया है कि किस तरह से हमसे तीर-बाण चुनाव निशान और नाम छीनने के लिए 2000 करोड़ का लेन-देन हुआ है. यह मेरा आरोप है, जो गद्दार गुट के लिए एक विधायक 50-50 करोड़ का भाव लगाते है. ऐसे में पार्टी ने चुनाव निशान लेने के लिए जरूर इतनी रकम खर्च की होगी..यह मुझे भरोसा है.’ संजय राउत ने कहा कि कल सुप्रीम कोर्ट में हम चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ अपील दाखिल करेंगे.

संजय राउत ने कहा, ‘अमित शाह क्या बोलते है वो महाराष्ट्र ध्यान नही देता, जो सत्य को खरीदने का काम करते हैं वो झूठ और सच की क्या बात करते है. इसका निर्णय लेना का काम जनता के पास है और समय आने पर वो करेगी. फिलहाल अमित शाह पर ज़्यादा कुछ नही बोलूंगा.’ इसके अलावा संजय राउत ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट देने का कारखाना खुला हुआ है. यह देश देख रहा है कि PM मोदी किस तरह से अपने एक दोस्त का साथ दे रहे हैं.’