रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने जर्मन चांसलर से की बात, कहा- यूक्रेन से नागरिकों की निकासी में बाधा के लिए पूर्वी यूरोपीय देश के राष्ट्रवादी जिम्मेदार

268
Russian president Putin
Russian president Putin

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के शहरों से नागरिकों की निकासी में बाधा के लिए इस पूर्वी यूरोपीय देश के राष्ट्रवादियों को जिम्मेदार ठहराया है. क्रेमलिन ने कहा कि पुतिन ने जर्मन चांसलर ओलाफ स्कॉल्ज के साथ फोन पर वार्ता की, जिसमें मानवीय पहलुओं पर विशेष रूप से जोर दिया गया. क्रेमलिन ने बताया कि पुतिन ने जर्मन चांसलर को लड़ाई वाले इलाकों से नागरिकों को निकालने के लिए मानव गलियारा बनाने की रूस की कोशिशों से अवगत कराया. पुतिन ने लोगों को सुरक्षित रूप से निकालने में राष्ट्रवादी इकाइयों से जुड़े अतिवादियों के अवरोध डालने के प्रयासों के बारे में भी बताया.

यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि रूस के निरंतर गोलाबारी ने लड़ाई वाले इलाकों से नागरिकों की निकासी की कोशिशों को पटरी से उतारा है. हालांकि रूस और यूक्रेन लोगों की निकासी के लिए कॉरिडोर बनाने पर सहमत हो गए हैं. बुधवार को यूक्रेनी अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी. दोनों देशों के बीच पिछले दो हफ्ते से युद्ध जारी है. न रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पीछे हटने को तैयार हैं और न ही यूक्रेन की सेना हार मानने के लिए तैयार है. रूस के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि मास्को ने कीव, चेर्निहाइव, सुमी, खार्किव और मारियुपोल शहरों में मानवीय गलियारों को खोलने के लिए संघर्ष विराम का फैसला लिया है.

कीव में हवाई हमले को लेकर अलर्ट
वहीं युद्धग्रस्त यूक्रेन की राजधानी कीव में बुधवार की सुबह एक हवाई हमले का अलर्ट घोषित किया गया और रूस की ओर से मिसाइलें दागे जाने के खतरे के बीच निवासियों से जल्द से जल्द सुरक्षित स्थानों पर जाने का अनुरोध किया गया है. सामरिक रूप से महत्वपूर्ण बंदरगाह शहर मारियुपोल की घेराबंदी कर दी गयी है, जिससे वहां मानवीय संकट बढ़ गया है. कीव क्षेत्रीय प्रशासन के प्रमुख ओलेक्सी कुलेबा ने हवाई हमले का अलर्ट जारी करते हुए कहा कि यूक्रेन की राजधानी पर ‘‘मिसाइल हमले का खतरा’’ है. उन्होंने कहा, ‘‘सभी लोग तुरंत सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं.’’ हालांकि, बाद में अलर्ट हटा दिया गया.

यूक्रेन के शहरों के हालात खराब
कुलेबा ने कहा कि नागरिकों के लिए राजधानी में संकट बढ़ रहा है और खासतौर से शहर के उपनगरों में हालात गंभीर हैं. उन्होंने कहा, ‘‘रूस कीव क्षेत्र में कृत्रित रूप से मानवीय संकट पैदा कर रहा है, लोगों की निकासी में बाधा डाल रहा है और छोटे समुदायों पर बमबारी कर रहा है.’’ लगभग दो हफ्तों से चल रही इस लड़ाई में सैकड़ों लोगों की मौत हो गयी है, जिसमें सैन्य और सामान्य नागरिक भी शामिल हैं. वहीं कीव के आसपास समेत कई इलाकों को यूक्रेन की सेना व लोगों के कड़े प्रतिरोध के चलते रूसी बलों का आगे बढ़ना रुका हुआ है