Russia जल्‍द करेगा Ukraine पर हमला, हर तरफ से मिल रहा इशारा’, NATO चीफ ने चेताया

430
Russian-Ukraine
Russian-Ukraine

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन यूक्रेन और रूस के बीच जारी तनाव पर लगातार नजर बनाए रखे हुए है. संगठन के प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने शनिवार को कहा कि हर संकेत यह इशारा कर रहे हैं कि रूस यूक्रेन के खिलाफ एक पूर्ण हमले की योजना बना रहा है. उन्होंने म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन के इतर जर्मन प्रसारक एआरडी को बताया कि हम सभी सहमत हैं कि हमले का जोखिम बहुत अधिक है. संगठन के एक अधिकारी ने शनिवार को कहा कि नाटो यूक्रेन की राजधानी कीव से देश के पश्चिम में ल्वीव और बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में कर्मचारियों को ट्रांसफर कर रहा है.

अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, ‘हमारे कर्मियों की सुरक्षा सबसे ऊपर है, इसलिए कर्मचारियों को ल्वीव और ब्रुसेल्स में ट्रांसफर कर दिया गया है.’ कई पश्चिमी देशों ने रूसी सैन्य कार्रवाई की आशंका को देखते हुए पोलैंड के साथ सीमा के पास स्थित कीव से ल्‍वीव में राजनयिकों को पहले ही ट्रांसफर कर दिया है. नाटो प्रमुख ने कहा है कि गठबंधन किसी भी रूसी आक्रमण से बचाव के लिए यूक्रेन में किसी भी सेना को तैनात नहीं करेगा. लेकिन नाटो के सदस्यों ने पड़ोसी देशों को सेना भेजी है जो गठबंधन के सदस्य हैं. स्टोल्टेनबर्ग ने कहा है कि नाटो के सदस्य देश अपने सामूहिक रक्षा समझौते के तहत उन क्षेत्रों में किसी भी रूसी कार्रवाई पर सख्ती से प्रतिक्रिया देंगे.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भी शुक्रवार को कहा कि उन्हें यकीन है और उनके पास यह मानने की वजह है कि रूसी बल आने वाले हफ्ते में राजधानी कीव समेत यूक्रेन पर हमला करेंगे. साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि अगर रूस हमला करता है तो वह ‘विध्वंसकारी और अनावश्यक युद्ध’ का जिम्मेदार होगा. बाइडेन ने रूस और अमेरिका में बढ़ते तनाव के बीच यह टिप्पणियां की. अमेरिका ने आशंका जताई है कि रूस की यूक्रेन पर हमला करने की योजना है. हालांकि रूस ने बार-बार इससे इनकार किया है.

व्हाइट हाउस से पत्रकारों से बातचीत में बाइडेन ने कहा कि अमेरिका हर उस वजह को खत्म करने की हरसंभव कोशिश कर रहा है जिसे रूस यूक्रेन पर हमला करने की आड़ बना सकता है तथा वह उसे आगे बढ़ने से रोकने की भी कोशिश कर रहा है. बाइडन ने कहा, ‘देखिए, हमे यकीन है कि रूसी बल आने वाले सप्ताह या आने वाले दिनों में यूक्रेन पर हमला करने की योजना बना रहे हैं. हमें यकीन है कि वे यूक्रेन की राजधानी कीव को निशाना बनाएंगे, जहां 28 लाख निर्दोष लोग रहते हैं.’

यह पूछने पर कि क्या उन्हें लगता है कि आक्रमण की स्थिति में यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेन्स्की का यूक्रेन छोड़ना बुद्धिमानी वाला कदम होगा. इस पर बाइडन ने कहा कि इसका फैसला उन्हें करना है. मैंने जेलेन्स्की से कई दफा बात की है. उन्होंने कहा, ‘हम रूस को उसके कदमों के लिए जवाबदेह ठहराएंगे. पश्चिम देश एकजुट और दृढ़ संकल्पित हैं. अगर रूस यूक्रेन पर हमला करता है तो हम उस पर गंभीर प्रतिबंध लगाने के लिए तैयार हैं. लेकिन मैं फिर कहता हूं कि रूस अब भी कूटनीति का रास्ता चुन सकता है. तनाव कम करने में अभी देर नहीं हुई है.’