Ukraine-Russia Conflict: बीजिंग ओलंपिक्स के दौरान रूस कर सकता है हमला, पुतिन और बाइडेन करेंगे बातचीत

250
USA-RUSSIA
USA-RUSSIA

यूक्रेन मसले को लेकर तनाव काफी गहरा गया है. अमेरिका ने आशंका जताई है कि बीजिंग ओलंपिक के दौरान ही रूस हमला कर सकता है. ऐसे में दुनिया पर युद्ध को लेकर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि बीजिंग विंटर ओलंपिक खत्म होने से पहले ही रूस यूक्रेन पर हमला कर देगा. वहीं बताया जा रहा है कि रूस के करीब 30 हजार सैनिक सीमा पर युद्धाभ्यास करने में जुटे हैं. रूसी टैंक और हेलिकॉप्टर समेत कई आधुनिक हथियारों के साथ युद्धाभ्यास किया जा रहा है. रूसी तैयारी का जवाब देने के लिए अमेरिका ने भी अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है. कुल मिलाकर युद्ध के हालत बनते दिख रहे हैं

अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि यूक्रेन बॉर्डर पर एक लाख से अधिक रूसी सैनिक तैनात हैं. रूस को करारा जवाब देने के लिए अमेरिका भी अपनी तैयारियों में जुटा हुआ है. रोमानिया में अमेरिकी टैंकों को पहुंचाया गया है. वही पोलैंड में अमेरिका ने पहले ही 3 हजार सैनिक और बढ़ा दिए हैं. NATO के अन्य सदस्य देशों ने भी अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ाई है. अमेरिका की उस आशंका के बाद जंग के हालात बनते दिख रहे हैं जिसमें कहा गया है कि बीजिंग ओलंपिक के दौरान ही रूस हमला कर सकता है. बीजिंग ओलंपिक्स 20 फरवरी तक होना है.

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने कहा है कि हमें यूक्रेन बॉर्डर पर रूस की तरफ से फौज बढ़ाने के संकेत मिल रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमने पहले भी कहा था कि हालात उस दौर में हैं जहां यूक्रेन पर कभी भी हमला किया जा सकता है. उन्होंने खुफिया जानकारी साझा करने से इनकार किया है. लेकिन इस बात पर जोर देते हुए कहा कि बीजिंग ओलंपिक के दौरान ही रूस यूक्रेन पर हमला कर सकता है. युद्ध की आशंका इसलिए भी और गहरा गई है क्योंकि अमेरिका, जापान समेत कई देशों ने यूक्रेन से अपने नागरिकों को जल्द से जल्द लौटने का आदेश जारी कर दिया है.

अमेरिका ने आशंका जताई है कि रूस पहले मिसाइलों से हवाई हमले करेगा और जब गोले बरसेंगे तो वो ये नहीं देखेंगे कि किस देश के नागरिक की जान जा रही है. इसके बाद रूसी सैनिक यूक्रेन में घुसकर तबाही मचाएंगे. हालांकि इस बीच खबर ये भी आ रही है कि आज ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन से यूक्रेन के मसले पर अहम बातचीत करेंगे.