राम मंदिर जमीन मामले पर बवाल, सुरजेवाला बोले- श्रीराम के नाम पर चंदे की लूट ‘रामद्रोह’, सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो जांच

278
Randeep Surjewala

कांग्रेस ने रविवार को कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीनों में घोटाले का सुप्रीम कोर्ट संज्ञान ले और अपनी निगरानी में जांच कराए। पार्टी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने ही मंदिर निर्माण पर फैसले के साथ एक ट्रस्ट बनाने का निर्देश केंद्र सरकार को दिया था।

अब प्रधानमंत्री की नैतिक, कानूनी और सांविधानिक जिम्मेदारी है कि देश के सामने ट्रस्ट के कुछ सदस्यों की भूमिका और भाजपा नेताओं की मिलीभगत पर चुप्पी तोड़े।

सुरजेवाला ने कहा, मंदिर के चंदे की लूट ‘रामद्रोह’ है, प्रधानमंत्री की नैतिक, कानूनी और सांविधानिक जिम्मेदारी
पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सस्ती जमीनों को महंगे में खरीदे जाने का खुलासा होने के बाद ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने भी पारदर्शिता और सामूहिक फैसले नहीं लेने के आरोप लगाए हैं। वहीं अन्य शंकराचार्य और महंत भी जांच की बात कह रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि धर्म-आस्था-विश्वास को बेच ‘मुनाफे की लूट’ में भाजपा नेता लगे हैं। राम मंदिर के चंदे की लूट ‘रामद्रोह’ है।

भाजपा आईटी सेल से जुड़ा दीप नारायण का फेसबुक प्रोफाइल इसे प्रमाणित करता है। साथ ही वह अयोध्या के भाजपा मेयर ऋषिकेश उपाध्याय का भांजा भी है। उन्होंने सवाल किया कि मंदिर निर्माण के लिए दिए गए हजारों करोड़ के चंदे में कितनी और रजिस्ट्री में खुली लूटपाट हुई है? क्या सुप्रीम कोर्ट के तत्वाधान में पूरे मामले की जांच व पैसे के लेनदेन का ऑडिट कर सारे तथ्य देशवासियों के समक्ष नहीं रखे जाने चाहिए।