राजनाथ सिंह कमांडर कॉन्फ्रेंस में सेना के शीर्ष अधिकारियों को संबोधित करेंगे, LAC के हालात पर कर सकते हैं चर्चा

369

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सेना के चल रहे सम्मेलन में शीर्ष अधिकारियों को संबोधित करेंगे। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है। मंत्री के संबोधन में विभिन्न पहलुओं जैसे सीमाओं की सुरक्षा स्थिति, सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण और रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता का जिक्र होने की संभावना है। सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने की अध्यक्षता में चार दिवसीय सम्मेलन 26 अक्टूबर से शुरू हुआ है।

आपको बता दें कि लंबे समय से एलएसी पर भारत और चीन के बीच गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। वहां के हालात पर भी सम्मेलन के दौरान चर्चा होने की संभावना है। आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच विवाद का यह छठा महीना है। अभी तक कोई ठोस हल नहीं निकला है। सीमा तनाव कम करने के लिए कोर कमांडर-रैंक के अधिकारियों के बीच सैन्य वार्ता का आठवां दौर शीघ्र ही आयोजित होने की उम्मीद है।

भारतीय और चीनी सैन्य कमांडरों ने तनाव को कम करने के लिए 12 अक्टूबर को सातवीं बार मुलाकात की। भारतीय पक्ष ने वार्ता के दौरान अप्रैल के आरंभ में सभी फ्लैशप्वाइंट पर व्यापक विघटन और यथास्थिति बहाल करने की मांग की। दोनों पक्षों ने बातचीत के एक दिन बाद जारी एक संयुक्त प्रेस बयान में कहा कि दोनों पक्षों ने पूर्वी लद्दाख में शुरुआती विघटन के लिए पारस्परिक रूप से स्वीकार्य समाधान पर पहुंचने के लिए बातचीत की प्रक्रिया को जारी रखने पर सहमति व्यक्त की।

अधिकारियों ने कहा, “सम्मेलन का पहला दिन मानव संसाधन प्रबंधन से संबंधित मामलों पर विचार-विमर्श में बीत। आज के (बुधवार) के शेड्यूल में विभिन्न सेना कमांडरों द्वारा अनुमानित विभिन्न एजेंडा बिंदुओं पर गहन चर्चा शामिल है।” अधिकारियों ने कहा कि शीर्ष अधिकारियों को सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) महानिदेशक लेटेस्ट जानकारी देंगे।

आपको बता दें कि चीन के साथ जारी विवाद और कोरोना महामारी के बावजूद प्रमुख परियोजनाओं को निष्पादित करने के लिए बीआरओ युद्धस्तर पर काम कर रहा है।