अमेठी में एक बार फिर राहुल और स्मृति आमने सामने, अमेठी की सियासी सरगर्मी बढ़ी

208
Rahul Gandhi-Smriti Irani
Rahul Gandhi-Smriti Irani

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए आज चुनाव प्रचार शाम समाप्त हो जाएगा और यूपी की राजनीति में अहम रखने वाले अमेठी का सियासी तापमान काफी बढ़ा हुआ है. क्योंकि आज अमेठी में एक बार फिर चुनाव प्रचार के आखिरी दिन राहुल गांधी और स्मृति ईरानी आमने सामने होंगे. राहुल गांधी पहली बार राज्य में चुनाव प्रचार के लिए उतरे हैं. जबकि स्मृति ईरानी लगातार अमेठी में चुनाव प्रचार कर रही हैं और राहुल गांधी के राज्य के चुनाव से गायब रहने को लेकर सवाल उठा रही हैं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव बीजेपी के लिए काफी अहमियत रखते हैं. क्योंकि राज्य में पहले से ही पार्टी की सरकार और पार्टी पर अपनी जीत दोहराने का दबाव है. लिहाजा पार्टी ने अपने दिग्गजों को काफी पहले से चुनाव प्रचार में उतार दिया था. वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी में डेरा डाले हुए हैं और वह कल भी पीएम नरेन्द्र मोदी की जनसभा में मौजूद थीं. इस रैली में बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर चुटकी लेते हुए कहा कि ये चुनावी जीव हैं. वहीं अमेठी से सांसद और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जब मौत हमारे सिर पर मंडरा रही थी तब भी हमने अमेठी की सेवा की और यहां के पूर्व सांसद और उनके परिवार के लोग गायब रहे. ईरानी ने कहा कि जो लोग मात्र चुनावी जीव हैं, उनका काम वोट मांगना है और हमारा काम सेवा करना है.

असल में राज्य विधानसभा चुवाव में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ही पार्टी की स्टार प्रचारक रही है. जबकि पार्टी ने राहुल गांधी के साथ ही अन्य नेताओं को स्टार प्रचारक घोषित किया था. लेकिन राहुल गांधी ने पिछले चार चरणों में प्रचार नहीं किया और पांचवें चरण के लिए आज चुनाव प्रचार के आखिरी दिन वह अमेठी में चुनाव प्रचार करेंगे. वह आज अमेठी के जगदीशपुर में चुनावी रैली करेंगे. गौरतबल है कि बीजेपी ने 2017 के चुनाव में अमेठी संसदीय क्षेत्र की चार सीटों पर जीत दर्ज की थी और एक सीट एसपी ने जीत थी. गांधी परिवारा का गढ़ होने के बावजूद कांग्रेस यहां पर खाता तक नहीं खोल पाई थी.

दरअसल 2019 के लोकसभा चुनाव में अमेठी में मिली हार के बाद राहुल गांधी ने अमेठी और यूपी से दूरी बनाकर रखी है. इस बार उन्होंने पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर चुनाव प्रचार किया. लेकिन राज्य में वह चार चरणों में प्रचार से दूर रहे. वहीं स्मृति ईरानी ने 2019 के चुनाव में राहुल गांधी को बड़ी शिकस्त दी थी. इसके बाद पिछले दिनों ही राहुल गांधी जगदीशपुर पहुंचे थे. लेकिन उससे पहले वह लोकसभा चुनाव हारने के बाद अमेठी नहीं आए.