पतंजलि की डेयरी यूनिट के हेड सुनील बंसल की कोरोना से मौत, जयपुर के अस्पताल में थे भर्ती

539

योग गुरु रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद के डेयरी कारोबार के प्रमुख सुनील बंसल की Covid-19 से मौत हो गई. पतंजलि की तरफ से जानकारी दी गई कि बंसल के ‘ऐलोपैथिक इलाज में पंतजलि की कोई भूमिका नहीं थी.’ बंसल पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के डेयरी विभाग के वाइस प्रेजीडेंट थे. जानकारी के मुताबिक पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के डेयरी विभाग के वाइस प्रेजीडेंट सुनील बंसल की 19 मई को मौत हो गई. उनकी उम्र 57 साल थी. डेयरी साइंस के विशेषज्ञ बंसल ने जनवरी 2018 में पतंजलि के डेयरी विभाग का जिम्मा संभाला था. पतंजलि ने उस समय गाय के डिब्बाबंद दूध और दही, छाछ और चीज सहित दूसरे डेयरी प्रोडक्ट बेचने की घोषणा की थी. हरिद्वार की कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘Covid-19 की वजह से जयपुर के हॉस्पिटल में 19 मई को बंसल की मौत हो गई. उनकी पत्नी राजस्थान सरकार में मेडिकल ऑफिसर हैं.’

बंसल की मौत ऐसे समय में हुई है जब रामदेव ऐलोपैथिक दवाओं और Covid-19 पर अपनी टिप्पणी को लेकर विवादों में हैं. कंपनी के बयान में भी इसकी झलक दिखी. पतंजलि ने कहा, ‘पतंजलि की उनकी ऐलोपैथिक इलाज में कोई भूमिका नहीं थी, उनके इलाज का अधिकतर समन्वय उनकी पत्नी ने किया था. हालांकि हम उन्हें लेकर चिंतित थे और उनकी पत्नी से उनकी स्थिति की जानकारी ले रहे थे.’ रविवार को योग गुरु रामदेव को अपना वह कथित बयान वापस लेने पर मजबूर होना पड़ा था जिसमें उन्होंने कहा था कि Covid-19 के लिए ऐलोपैथिक दवाएं लेने की वजह से लाखों लोगों की मौत हो गई. उनके कथित बयान का वीडियो क्लिप वायरल हो गया था. इसके बाद IMA ने केस दर्ज करने की मांग की थी. स्वास्थ्य मंत्री के दखल के बाद रामदेव ने अपना बयान वापस लिया.