पाकिस्तान में इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव, PPP के अध्यक्ष भुट्टो ने गद्दी छोड़ने का अल्टीमेटम

202
No confidence against Imran khan govt.

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी ने प्रधानमंत्री इमरान खान को गद्दी छोड़ने के लिए 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार, लालामुसा में अवामी मार्च के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए पीपीपी नेता बिलावल भुट्टो ने सोमवार को कहा कि हम इमरान खान को लोकतांत्रिक तरीकों से पद से हटाने के लिए तैयार हैं। जनता नहीं चाहती है कि अब इमरान खान थोड़ी देर के लिए भी गद्दी पर बने रहें। मैं पीएम इमरान से अपील करता हूं कि उनकी भलाई गद्दी छोड़ने में ही है। पीपीपी नेता ने कहा कि इमरान खान अविश्वास प्रस्ताव को लेकर इतने डरे हुए हैं कि उन्होंने अपने राजनीतिक विरोधियों को गाली देना और नाम बिगाड़ना शुरू कर दिया है।

इमरान खान सरकार और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के बीच कथित सांठगांठ का जिक्र करते हुए बिलावल ने कहा कि देश ने सरकार की आर्थिक नीतियों को खारिज कर दिया है और पीटीआई एवं आईएमएफ का विरोध कर रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, देश में आर्थिक संकट के लिए कठपुतली प्रधानमंत्री को दोषी ठहराते हुए बिलावल ने कहा कि पाकिस्तान में आम आदमी मुद्रास्फीति की सुनामी में डूब रहा है। पीपीपी नेता ने कहा कि इमरान खान सरकार ने ऋण के लिए भीख मांगी, जो पहले कभी हासिल किए गए ऋण से तीन गुना अधिक था। उन्होंने कहा कि लोग अब इमरान खान की भूलों का बोझ नहीं उठा सकते।

बिलावल ने कहा कि इमरान खान इस्तीफा देने के बाद घर पर नहीं बैठेंगे। वह सही है क्योंकि इमरान खान सलाखों के पीछे होंगे। उन्हें विदेशी फंडिंग मामले में जवाबदेह ठहराया जाएगा। इस बीच, जैसा कि पाकिस्तान एक गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है, विपक्षी दलों ने इमरान खान सरकार द्वारा घोषित राहत को अपर्याप्त बताया है। वे लगातार पाकिस्तानी प्रधानमंत्री पर दबाव बना रहे हैं।