मोदी सरकार ने कुमार विश्वास को दी Y कैटेगरी की सुरक्षा, 11 जवान रहेंगे साथ

    210
    Kumar Vishwas will get Y category security
    Kumar Vishwas will get Y category security

    दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाए जाने के बाद केंद्र सरकार ने मशहूर कवि कुमार विश्वास को सीआरपीएफ कवर के साथ वाई श्रेणी की सुरक्षा दी है. केंद्र ने खुफिया इनपुट के आधार पर और गहन समीक्षा के बाद निर्णय लिया गया है. बीते दिन सूत्रों ने बताया था कि केंद्र सरकार आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कुमार विश्वास की सुरक्षा की समीक्षा कर रही है और केंद्रीय एजेंसी के जरिए उन्हें सुरक्षा दे सकती है. इस सुरक्षा के तहत 11 सुरक्षाकर्मी साथ रहते हैं, जिसमें दो पीएसओ (निजी सुरक्षागार्ड) भी शामिल होते हैं. इस श्रेणी में कोई कमांडो नहीं तैनात नहीं किया जाता है.

    कुमार विश्वास के आरोपों का जवाब देते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा था, ‘मैं दुनिया का सबसे स्वीट आतंकवादी हूं, जो स्कूल-कॉलेज बनवाता है. लोगों को तीर्थयात्रा पर भेजता है. ऐसा आतंवादी तो दुनिया में पैदा नहीं हुआ होगा. मुझ पर आरोप लग रहे हैं कि प्रधानमंत्री बनने के लिए 10 साल से प्लान बना रहा हूं. अगर ऐसा था तो 3 साल कांग्रेस की सरकार थी और 7 साल से बीजेपी की सरकार है, फिर उन्होंने कार्रवाई क्यों नहीं की.’

    भगत सिंह का उल्लेख करते हुए उन्होंने आगे कहा कि क्रांतिकारी को अंग्रेज भी आतंकवादी कहते थे और भगत सिंह के शिष्य को आतंकवादी बनाने के लिए सभी भ्रष्ट लोगों ने मिलकर काम किया है. इसका जवाब देते हुए कुमार विश्वास ने केजरीवाल पर ‘विक्टिम कार्ड’ खेलने का आरोप लगाया और कहा कि उन्हें भगत सिंह का नाम खराब करना बंद करना चाहिए.

    कुमार विश्वास के आरोपों ने पंजाब की राजनीति में तूफान ला दिया. यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब में एक रैली के दौरान अपने हालिया भाषण में कुमार विश्वास द्वारा लगाए गए आरोपों का जिक्र किया था. पंजाब में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कुमार विश्वास द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों पर अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर भी सवाल उठाए थे. पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने भी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कुमार विश्वास की ओर से लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच का अनुरोध किया था. शुक्रवार को चन्नी को लिखे पत्र में अमित शाह ने कहा कि वह इस मामले को व्यक्तिगत रूप से देखेंगे.