मध्य प्रदेश उपचुनाव के बीच मायावती का वार- कमलनाथ की टिप्पणी महिला विरोधी, माफी मांगे कांग्रेस

351
Mayawati

मध्य प्रदेश में उपचुनाव होने से पहले राजनीतिक बयानबाजी तेज़ होने लगी है. कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी इमरती देवी को लेकर दिए बयान पर बवाल मचा हुआ है. भारतीय जनता पार्टी पहले से ही कांग्रेस पर हमलावर है, अब बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने भी कमलनाथ को घेरा है.

मायावती ने सोमवार सुबह ट्वीट कर लिखा कि कमलनाथ का बयान महिला विरोधी और अति शर्मनाक है. बसपा प्रमुख ने अपने ट्वीट में लिखा कि मध्य प्रदेश में ग्वालियर की डाबरा रिजर्व विधानसभा सीट पर उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई घोर महिला-विरोधी अभद्र टिप्पणी अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय है. इसका संज्ञान लेकर कांग्रेस आलाकमान को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए.

मायावती ने कहा कि साथ ही, कांग्रेस पार्टी को इसका सबक सिखाने व आगे महिला अपमान करने से रोकने आदि के लिए भी खासकर दलित समाज के लोगों से अपील है कि वे एम.पी. में विधानसभा की सभी 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपना वोट एकतरफा तौर पर केवल बी.एस.पी. उम्मीदवारों को ही दें तो यह बेहतर होगा.

आपको बता दें कि कमलनाथ ने अपनी एक रैली के दौरान भाजपा नेता और प्रत्याशी इमरती देवी को आइटम कहा था, जिसके बाद राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है. कमलनाथ के बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है और सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत अन्य भाजपा के नेता मौन धरने पर बैठेंगे.

मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहा है. यहां 3 नवंबर को मतदान होगा, जबकि बिहार चुनाव के नतीजों के साथ ही दस नवंबर को रिजल्ट आएगा. विधानसभा उपचुनाव के नतीजों पर ही शिवराज सरकार का भविष्य दांव पर है.