फेसबुक बंद होने के कुछ ही घंटों में मार्क जुकरबर्ग को 6 अरब डॉलर से ज्यादा का हुआ नुकसान, अमीरों सूची में भी नीचे आ गए

528

एक व्हिसलब्लोअर के सामने आने और फेसबुक की कुछ सेवाओं के बंद होने के चलते कुछ ही घंटों में मार्क जुकरबर्ग की व्यक्तिगत संपत्ति में सोमवार को करीब 7 अरब डॉलर (52,191 करोड़ रुपये से ज्यादा) की गिरावट आ गई. इससे वह दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में भी नीचे आ गए.

सितंबर माह के मध्य से अब तक इस सोशल मीडिया दिग्गज के स्टॉक में 15 फीसद की गिरावट दर्ज की गई है. इसमें सोमवार को बिकवाली के चलते फेसबुक इंक के शेयरों में 4.9 फीसद की गिरावट भी शामिल है.

सोमवार को आई गिरावट के बाद मार्क जुकरबर्ग की संपत्ति 121.6 बिलियन डॉलर पर आ गई और इस तरह से वह ब्लूमबर्ग बिलिनियर्स इंडेक्स में बिल गेट्स से भी नीचे पांचवे नंबर पर पहुंच गए. इंडेक्स के अनुसार वह सिर्फ एक हफ्ते में ही 140 बिलियन डॉलर से इतने नीचे आ गए हैं.

13 सितंबर से ही वॉल स्ट्रीट जर्नल ने फेसबुक के आंतरिक दस्तावेजों के आधार पर खबरें प्रकाशित करना शुरू की थीं. इन प्रकाशित खबरों में खुलासा किया गया कि फेसबुक को अपने उत्पादों से जुड़ी समस्याओं के बारे में जानकारी थी. जैसे इंस्टाग्राम किशोरावस्था की लड़कियों के मानसिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाता है. 6 जनवरी के कैपिटल राइट्स (दंगों) के बारे में गलत जानकारी देने और सार्वजनिक मुद्दों को डाउनप्ले करने से जुड़ी जानकारियां थीं. इन खबरों ने सरकारी अधिकारियों का भी ध्यान आकर्षित किया और फिर सोमवार को व्हिसलब्लोअर ने अपने नाम का खुलासा भी कर दिया.

जवाब में फेसबुक ने इस बात पर जोर दिया है कि उसके उत्पादों से जुड़े मुद्दे जैसे राजनीतिक ध्रुवीकरण (पॉलिटिकल ध्रुवीकरण) काफी जटिल हैं और इन्हें सिर्फ टेक्नोलॉजी के माध्यम से नहीं किया जा सकता है.

फेसबुक के वैश्विक मामलों के उपाध्यक्ष निक क्लेग ने सीएनएन को बताया, ‘मुझे लगता है कि लोग यह मानने लगते हैं कि संयुक्त राज्य अमेरिका में राजनीतिक ध्रुवीकरण के मुद्दों के लिए टेक्नोलॉजिकल या तकनीकी स्पष्टीकरण होना चाहिए.’