मनोज तिवारी ने कंगना के उग्र व्यवहार पर जताई असहमति कहा – आलोचना करते समय मर्यादा न खोएं

465
KANGANA VS MANOJ

बॉलीवुड की कॉन्ट्रोवर्सी क्वीन की नाम से मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के तेजतर्रार व्यवहार से हर कोई वाकिफ हैं. कंगना बॉलीवुड की सबसे बेहतरीन एक्ट्रेस में से एक हैं. वो ऐसी एक्ट्रेस हैं जो अपने दम पर फिल्में हिट कराने का माद्दा रखती हैं लेकिन पिछले कुछ सालों से कंगना का नया रूप देखने को मिल रहा है. कंगना अपनी विचारधारा को लेकर बहुत मुखर हो गई हैं. वो ना सिर्फ बॉलीवुड के लोगों को बल्कि राजनेताओं को भी निशाने पर लेटी हैं. वो हमेशा किसी ना किसी विवाद में फंस ही जाती हैं. पिछले दिनों आजादी को लेकर दिए गए बयान पर उनपर एफआईआर तक हो गई थी. एक्टर और राजनेता मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने कंगना रनौत एक जरुरी सलाह दी है. उन्होंने कंगना के लिए कहा है कि वो किसी की आलोचना करते समय मर्यादा ना खोए. उन्होंने इस बातचीत में कंगना के साथ-साथ अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) के बारे में भी बातें की.

कंगना के उग्र व्यवहार पर जताई असहमति
कंगना रनौत के बयानबाजी से हमेशा कुछ ना कुछ हंगामा होता ही है. इसी बीच उनके इस रवैये पर मनोज तिवारी ने एक टॉक शो ‘अनफिल्टर्ड बाय समदीश‘ में बातचीत की. उन्होंने इस शो के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि मुझे लगता है कि आपको अपनी राय इतने उग्र अंदाज में नहीं रखनी चाहिए कि वह सीधे किसी को हिट कर दे. एक कलाकार की भी कुछ जिम्मेदारी होती है. उन्होंने कंगना की कुछ बातों पर सहमति भी जताई. आगे उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद जब कंगना ने एक्टर के लिए बात की वो एकदम सही थी, लेकिन महाराष्ट्र सरकार के प्रति उनका व्यवहार बहुत सख्त था और वहां कंगना सही नहीं थीं.

कंगना को दी आलोचना में मर्यादा बनाए रखने की सलाह
भोजपुरी सिंगर मनोज तिवारी ने कंगना को एक सलाह भी दी. उन्होंने कहा कि आपको अपने विचार रखने चाहिए लेकिन किसी का अपमान करना हमारे देश की संस्कृति नहीं है. मुख्यमंत्री पद संभालने वाले सभी व्यक्तियों का सम्मान करना चाहिए. लोग हमारे प्रधानमंत्री के बारे में भी ऐसी बातें कहते हैं मैं उनसे भी कहना चाहता हूं कि देश के बड़े पदों पर बैठे व्यक्तियों का सम्मान करना चाहिए. हर तरह से आलोचना किजिए लेकिन सम्मान के साथ. मर्यादित भाषा होनी चाहिए और कंगना कभी-कभी मर्यादा खो देती हैं.