ममता बोलीं- हिम्मत है तो भाजपा पहले अभिषेक से लड़कर दिखाए, फिर मुझसे भिड़े

245
West Bengal

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत है तो वे उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़कर दिखाएं। गुरुवार को शाह और ममता एक ही जिले में अलग-अलग जगहों पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे। शाह जिस वक्त दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप में थे, उस वक्त पैलान इलाके में अभिषेक के साथ सभा को संबोधित करते हुए ममता ने कहा-‘केंद्र के एक मंत्री गंगासागर जाकर बुआ-भतीजे की बात कर रहे हैं। आज मैं कहती हूं कि पहले भतीजे से लड़ो, फिर दीदी से लड़ना। ममता ने सवाल किया-‘अमित शाह का बेटा भी मेरा भतीजा है। वो बीसीसीआइ का सचिव कैसे बना?

मुख्यमंत्री ने श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन पर हुए हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि साजिश के तहत जाकिर हुसैन पर हमला किया गया। इसके पीछे विरोधी दल का हाथ है। जनसभा से पहले ममता अपने मंत्री को देखने कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल गई थीं। उन्होंने कहा-‘विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस को डराने की कोशिश हो रही है। जाकिर हुसैन पर हमला किया गया। रेलवे स्टेशन पर हुए हमले में 26 लोग घायल हुए हैं। जाकिर आज जिंदगी और मौत के बीच बेड पर पड़े हुए हैं। उनकी हालत गंभीर है। ममता ने कहा-चक्रवात एम्फन में बहुत से लोग मारे गए लेकिन केंद्र ने बचाव व राहत कार्य के लिए एक पैसा नहीं दिया।

वहीं, सांसद अभिषेक ने कहा कि ममता सरकार ने पिछले 10 वर्षों में राज्य में जो विकास कार्य किए हैं, वैसा किसी राज्य की सरकार ने नहीं किया। भाजपा कह रही है कि भाजपा ने सात वर्षों में बंगाल को तीन लाख करोड़ रुपये दिए हैं, जबकि वह इस दौरान बंगाल से 75 हजार करोड़ का टैक्स काटकर ले गई है और उसी रुपये से सांसद व विधायक खरीद रही है। वह तृणमूल के नेता खरीदकर सोनार बांग्ला गढ़ने की बात कर रही है। अभिषेक ने कहा कि उन पर भ्रष्टाचार के आरोप साबित होने पर वे खुद ही सूली से लटक जाएंगे। इसके लिए सीबीआइ व ईडी को जांच में लगाने की जरुरत नहीं है।