महाराष्ट्र में कोरोना के 57640 नए मामले और 920 मौतें, उद्धव ठाकरे बोले- कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी कर रहे

201

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर लगातार जारी है। सूबे में संक्रमण के मामले और कोरोना से होने वाली मौत के आंकड़े थमते नजर नहीं आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार राज्य में बीते 24 घंटे में कोरोना के 57,640 मामले सामने आए हैं और 920 लोगों की जान चली गई। वहीं राजधानी मुंबई की बात करें तो यहां बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,879 मामले सामने आए और 77 लोगों की मौत हो गई। इस दौरान 3,686 लोग स्वस्थ भी हुए।

वहीं दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार के वैज्ञानिकों ने कोरोना की तीसरी लहर के बारे में चेतावनी दी है। हम पिछले महीने से ही इसके लिए तैयारी कर रहे हैं। कई जिलों में कोविड मामलों में गिरावट देखी जा रही है, जबकि कुछ जिलों में बढ़ोतरी भी देखी जा रही है। हम इस पर कड़ी नजर रख रहे हैं।

तीसरी लहर से हम सावधान, पर लापरवाही न करें : उद्धव ठाकरे
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी की जानकारी देने के साथ ही लापरवाही ना बरतने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में गिरावट के बावजूद लोगों को आत्मसंतुष्ट नहीं होना चाहिए। सोशल मीडिया पर प्रदेश को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि हम वायरस की तीसरी लहर के लिए तैयारी कर रहे हैं।

ठाकरे ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए मुंबई नगर निगम के काम की सराहना की है। उन्होंने कहा कि केंद्र की वैज्ञानिक समिति ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर के बारे में चेतावनी दी है। हम पिछले महीने से ही उसकी तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई जिलों में मामलों में गिरावट देखी जा रही है जबकि कुछ अन्य जिलों में मामले बढ़ रहे हैं।

ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता और बढ़ानी होगी : ठाकरे
ठाकरे ने कहा कि राज्य को ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 3000 मीट्रिक टन करनी होगी और इस पर काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि हम रोजाना 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन करते हैं, लेकिन हमारी खपत 1700 मीट्रिक टन है।

ठाकरे ने मराठा आरक्षण पर भी कही अपनी बात
उच्चतम न्यायालय द्वारा मराठा आरक्षण को खारिज किए जाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ठाकरे ने कहा कि वह इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर दखल देने और समुदाय को राहत पहुंचाने का अनुरोध करेंगे। ठाकरे ने राज्य के लोगों से अपील की कि वे उन लोगों की बातों से गुमराह न हों जो मराठा आरक्षण के मुद्दे को लेकर अशांति पैदा करना चाहते हैं।

बता दें कि इससे पहले मंगलवार को महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा था कि मुंबई और ठाणे सहित 15 जिलों में कोरोना के प्रतिदिन सामने आने वाले मामलों में गिरावट देखी जा रही है, लेकिन अन्य जिलों में मामलों में अभी भी बढ़ोतरी जारी है।

उन्होंने कहा प्रतिदिन जांच की संख्या 2.5 लाख से 2.8 लाख के बीच होती है, जिनमें से आरटीपीसीआर65 फीसदी और रैपिड एंटीजन टेस्ट 35 फीसदी होते हैं।  टोपे ने बताया कि देश में संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य को रेमडेसिविर की 3.5 लाख शीशियां और 20,000 ऑक्सीजन सांद्रक मिलेंगे। टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र द्वारा प्राप्त किए जाने वाले रेमेडेसिविर भंडार में से 40,000 इंजेक्शन मिल चुके हैं और पहले से ही उपयोग किए जा रहे हैं।

इन जिलों में घट रहे मामले
टोपे ने कहा कि 15 जिलों- मुंबई, धुले, नांदेड़, भंडारा, ठाणे, नासिक, लातूर, नंदुरबार, नागपुर, औरंगाबाद, अमरावती, रायगढ़, ओसमाबाद, चंद्रपुर और गोंदिया में कोविड-19 के मामले रोज घट रहे हैं। टोपे ने कहा कि सरकार कोविड-19 संक्रमण के अधिक मामलों वाले जिलों में संक्रमण की संख्या को कम करने का लक्ष्य बना रही है।