दिल्ली में पहली बार कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 5000 के पार, अब कूल संख्या 3.7 लाख के पार

381

ऐसा लगता है कि देश की राजधानी दिल्ली अभी भी कोरोना की चपेट में है. तीसरी लहर के आंकड़े तो कुछ ऐसा ही इशारा कर रहे हैं. कोरोना काल में बुधवार को यह पहला मौका था, जब दिल्ली में एक ही दिन में 5 हज़ार से ज़्यादा केस आए हैं. आंकड़े डराने वाले हैं. शायद इसी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने कोरोना से लड़ाई को अब बदल दिया है. टेस्टिंग का तरीका भी बदलने की बात सरकार के स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं. आंकड़े जो भी कहें, लेकिन अभी भी हर स्तर पर ऐहतियात बरतने की बहुत जरूरत है.

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सतेन्द्र जैन का कहना है. बुधवार को दिल्ली में पहली बार 5000 पॉज़िटिव केस का आंकड़ा पार हुआ है. इसे देखते हुए हमने अब कोरोना से लड़ाई का तरीका बदला है. अब हमने कांटेक्ट ट्रेसिंग को और तेज कर दिया है. जांच करने का नंबर भी बढ़ा दिया गया है.

नए प्लान के तहत जो भी पॉजिटिव केस आता है, तो उसके नजदीक के संपर्क वाले सभी लोगों का टेस्ट किया जा रहा है. फिर चाहें उन लोगों में लक्षण हों या न हों. कभी एक बार तो कभी दो-दो बार टेस्ट किए जा रहे हैं. तीसरे पीक के लिए अभी एक हफ्ते तक देखना होगा. या फिर तीसरा पीक हो भी सकता है.

दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में अचानक तेजी आई है. हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली में कोविड-19 के 5673 नए केस सामने आए हैं. यह अब तक किसी एक दिन में संक्रमण के नए मामलों का सबसे अधिक आंकड़ा है. इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना से कुल संक्रमितों की तादाद 3.7 लाख के पार कर चुका है.

इससे पहले मंगलवार को 4853 नए मामले सामने आए थे. अगर सोमवार की बात करें तो उस दिन राष्ट्रीय राजधानी में 2832 नए मामले सामने आए. रविवार को 4136, शनिवार को 4116 और शुक्रवार को 4086 नए मामले सामने आए थे.