केरल में भी ओमीक्रॉन वेरिएंट पहुंचने से मचा हड़कंप, देश में अब तक 38 लोग हो चुके संक्रमित

    543
    Omicron in Maharastra

    केरल (Kerala) में भी ओमीक्रॉन (Omicron) ने अपनी दस्तक दे दी है. केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज (Kerala Health Minister Veena George) ने रविवार को बताया कि कोच्चि में ओमीक्रॉन का पहला मामला सामने आया है. साथ ही कहा कि संबंधित व्यक्ति 6 ​​दिसंबर को यूके से कोच्चि लौटा था और 8 दिसंबर को कोविड टेस्ट में वो पॉजिटिव आया था.

    स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि उनके बगल में बैठे हाई रिस्क यात्रियों को सूचित कर दिया गया है. घबराने की जरूरत नहीं है, उनकी हालत स्थिर है. उनकी पत्नी और मां का भी कोविड टेस्ट पॉजिटिव आया है. सभी को आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है. आवश्यक सावधानियां बरती जा रही हैं.

    देश में अब तक सामने आए 38 ओमीक्रॉन के मामले

    रविवार को देश में ओमीक्रॉन वेरिएंट के 5 नए मामले सामने आने के साथ देश में इसकी कुल संख्या बढ़कर 38 हो गई है. चंडीगढ़ में विदेश से अपने रिश्तेदारों से मिलने पहुंचे 20 साल के एक युवक के कोरोनावायरस के ओमीक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है, इसके साथ ही चंड़ीगढ़ में कोरोनावायरस के इस वेरिएंट से किसी व्यक्ति के संक्रमित होने का पहला मामला सामने आया है.

    स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने रविवार को ये जानकारी दी. चंडीगढ़ के स्वास्थ्य सेवा निदेशक डॉक्टर सुमन सिंह ने बताया कि युवक इटली में रह रहा था. हाल ही में वो अपने रिश्तेदारों से मिलने यहां आया था. जीनोम सिक्वेंसिंग की उसकी रिपोर्ट 11 दिसंबर को देर रात मिली और इसमें ओमीक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि हुई.

    नागपुर में भी रविवार को सामने आया ओमीक्रॉन का पहला मामला

    इसके अलावा महाराष्ट्र के नागपुर में भी रविवार को ओमीक्रॉन का पहला मामला सामने आया. एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिम अफ्रीकी देश से लौटा 40 साल का एक व्यक्ति कोरोनावायरस के इस वेरिएंट से पीड़ित पाया गया. इसके साथ ही राज्य में ओमीक्रॉन के मामलों की संख्या बढ़कर 18 हो गई है.

    नागपुर नगर निगम (एनएमसी) के आयुक्त राधाकृष्णन बी ने कहा कि स्थानीय निवासी ये व्यक्ति करीब आठ दिन पहले पश्चिम अफ्रीका से लौटा था. यहां पहुंचने पर वो कोविड-19 से पीड़ित पाया गया. इसके बाद उसे नगर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसके नमूने को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा गया. आज आई रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि हुई कि वो ओमीक्रॉन वेरिएंट से पीड़ित है. उन्होंने कहा कि लेकिन उसके संपर्क में आए लोग संक्रमित नहीं पाए गए हैं. आयुक्त ने कहा कि मरीज की हालत स्थिर है और हम उस पर नजर बनाए हुए हैं.