15 अक्तूबर को दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट, बिडेन ने कहा- अगर ट्रंप अभी भी कोरोना संक्रमित हैं तो मैॆं बहस में हिस्सा नहीं लूंगा

346
President Joe Biden
President Joe Biden

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना से संक्रमित हैं और तीन दिन अस्पताल में इलाज कराकर व्हाइट हाउस वापस आ गए हैं लेकिन इसके बाद भी उनकी मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। 15 अक्तूबर को दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट होने वाली है और इसके लिए जो बिडेन ने एक शर्त रखी है।

डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार जो बिडेन ने कहा कि जब तक ट्रंप संक्रमण से पूर्ण रूप से बाहर नहीं आ जाते वो तब तक बहस में हिस्सा नहीं लेंगे। बता दें कि ट्रंप के एक और एडवाइजर स्टीफन मिलर भी कोविड-19 की चपेट में आ चुके हैं। 
15 अक्तूबर को मियामी में दूसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट होने वाली है। इसे लेकर मंगलवार को जो बिडेन ने कहा कि अगर ट्रंप अभी भी कोरोना वायरस पॉजिटिव हैं तो प्रेसिडेंशियल डिबेट को नहीं करना चाहिए। सोमवार की रात मैरीलैंड के वॉल्टर रीड मिलिट्री अस्पताल से लौटने के बाद ट्रंप के कैंपेन मैनेजर ने साफ कर दिया था कि राष्ट्रपति दूसरी बहस के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

हालांकि बिडेन के इस एलान के बाद ट्रंप को प्रेसिडेंशियल डिबेट में हिस्सा लेने के लिए संक्रमण ना होने का सबूत देना पड़ सकता है। पिछले दिनों जो बिडेन ने अपना कोरोना टेस्ट कराया था, लेकिन उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। बिडेन ने कहा कि प्रेसिडेंशियल डिबेट को लेकर वो पहले क्लीवलैंड क्लीनिक और डॉक्टरों से बातचीत करेंगे। 

बिडेन ने कहा कि वो इस बारे में पहले डॉक्टरों की सलाह लेंगे और जो सही होगा वही करेंगे। अब ये देखना दिलचस्प है कि 15 और 22 अक्तूबर को होने वाली दूसरी और तीसरी प्रेसिडेंशियल डिबेट होती है या नहीं। बिडेन इस बारे में कमीशन ऑफ प्रेसिडेंशियल डिबेट यानि कि सीपीडी से बातचीत कर सकते हैं। 

बता दें कि ट्रंप तीन दिन तक अस्पताल में रहे और फिर डिस्चार्ज होकर घर आ गए। अमेरिकी में सीडीसी की गाइडलाइंस के मुताबिक किसी हल्के लक्षण वाले मरीज को भी कम से कम दस दिन तक निगरानी में रहता होता है। अगर संक्रमित गंभीर स्थिति में था तो उसे 20 दिन तक निगरानी में रखा जाना चाहिए।

इसके अलावा आज पहली उप राष्ट्रपति डिबेट होगी। इसमें माइक पेन्स और डेमोक्रेटिक उम्मीदवार कमला हैरिस हिस्सा लेंगे। दोनों उम्मीदवारों के बीच 12 फीट की दूरी होगी और दोनों के आगे प्रोटेक्शन ग्लासेस लगाए जाएंगे।