जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के बाहर हिन्दू सेना ने लगाए ‘भगवा JNU’ के झंडे, विवाद बढ़ने के बाद हटाया

257
JNU

दिल्ली का जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय लगातार राजनीति का अड्डा बना हुआ है. यहां रामनवमी के अवसर पर मीट परोसे जाने को लेकर हुए विवाद और झड़प के बाद हालात अब भी सामान्य नहीं हुए हैं. इस बीच शुक्रवार सुबह JNU के गेट और बाउंड्री पर हिंदू सेना ने भगवा झंडे, भगवा बट्टी और बोर्ड लगाकर भगवा JNU लिख दिया. इसकी जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस तुरंत हरकत में आई और मौके पर पहुंचकर परिस्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की.

आज JNU में कुछ छात्र भगवा पट्टी और भगवा झंडे लहराते हुए भी नजर आए. फिलहाल जेएनयू की स्थिति सामान्य है, लेकिन यहां कब हालात बिगड़ जाएं कहा नहीं जा सकता. क्योंकि जेएनयू को वामपंथी विचारधारा का गढ़ माना जाता और अब ABVP लगातार यहां पर पैठ बना रहा है. ऐसे में दोनों विरोधी गुट कभी भी आमने-सामने आ जाते हैं. यहां जो भगवा बैन, पोस्टर और पट्टी लगाए गए थे उन्हें फिलहाल हटा दिया गया है.

हिंदू सेना ने जेएनयू के भगवाकरण की जिम्मेदारी ली है. हिंदू सेना का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से यहां भगवा का अपमान हो रहा था, इसलिए उसने यह पट्टियां और भगवा झंडे लगाए गए हैं. साथ ही यह ऐलान भी किया गया है कि अगर जेएनयू में भगवा का अपमान बंद नहीं हुआ तो आने वाले समय में हिंदू सेना कोई बड़ा कदम उठा सकती है.