जम्मू कश्मीर: अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, जैश-ए-मोहम्मद का एक आतंकी ढेर

    356
    Terrorism In Kashmir
    Terrorism In Kashmir

    जम्मू कश्मीर में अवंतीपोरा के बरागाम इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई है. इस बात की जानकारी कश्मीर जोन पुलिस (Kashmir Zone Police) ने दी है. घटना के बारे में बताते हुए आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने कहा कि इस मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर हो गया है. मारे गए आतंकवादी की पहचान समीर अहमद तांत्रे के रूप में की गई है. जो प्रतिबंधित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़ा था. यह 2 नवंबर, 2021 से एक्टिव था. इससे पहले खबर आई थी कि पुलिस और सेना की एक संयुक्त टीम ने बारगाम में एक घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया है.

    जैसे ही टीम संदिग्ध स्थान की ओर बढ़ी, तभी छिपे हुए आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई. इससे करीब चार दिन पहले जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़ हुई थी. जिसमें तीन अज्ञात आतंकवादियों को मार गिराया गया. पुलिस ने यह जानकारी दी थी (Shopian Encounter). पुलिस के एक अधिकारी ने बताया था कि उन्हें सूचना मिली थी कि शोपियां के चक-ए-चोलां गांव में आतंकियों की मौजूदगी है. जिसके बाद उन्होंने तलाशी और घेराबंदी अभियान चलाया. पहले आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोली चलाई, जिसके बाद जवाबी फायरिंग की गई.

    दिनभर चली थी गोलीबारी
    शोपियां मुठभेड़ की जानकारी देते हुए अधिकारी ने कहा कि दोनों पक्षों के बीच दिनभर चली गोलीबारी में तीन आतंकी मारे गए. बाद में फिर इन आतंकियों की पहचान कर ली गई. इनके नाम आमिर हुसैन, रईस अहमद और हसीब युसूफ हैं (Encounter in Kashmir). पुलिस के प्रवक्ता ने आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार बताया कि, तीनों आतंकी, आतंकी वारदात को अंजाम देने वाले समूहों से जुड़े थे. इन्होंने सुरक्षाबलों और आम नागरिकों पर कई हमले भी किए हैं.

    आतंकियों के पास हथियार मिले
    मारे गए इन तीनों आतंकियों के पास से हथियार और गोलाबारूद मिले. जिनमें एक पिस्तौल और एक एके-47 राइफल शामिल है. बता दें बीते कुछ समय से जम्मू कश्मीर में आम नागरिकों पर हमले तेजी से बढ़े हैं. ऐसी खबर भी सामने आई कि पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI कश्मीर की शांति भंग करने के लिए नए-नए पैंतरे आजमा रही है. पाकिस्तान पानी जैसे रास्तों से भी आतंकियों को भेज रहा है. आईएसआई साजिश के तहत आम नागरिकों को निशाना बनाने की कोशिश कर रही है. हालांकि उसकी इन्हीं कोशिशों को मुहंतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय सेना आए दिन आतंकियों के खिलाफ अभियान चला रही है. जिसके तहत घाटी से आतंकियों का सफाया किया जा रहा है. ताकि आम नागरिकों को ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा दी जा सके