IPL 2020, SRH vs CSK : सनराइजर्स ने रोमाचंक मुकाबले में सीएसके को 7 रन से हराया,चेन्नई की बल्लेबाजी हुई फेल

557

सनराइजर्स हैदराबाद ने शुक्रवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल-13 के मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को सात रनों से हरा दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए हैदराबाद ने प्रियम गर्ग के नाबाद 51 रनों के दम पर 20 ओवरों में पांच विकेट खोकर 164 रन बनाए। चेन्नई 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 157 रन ही बना सकी।

चेन्नई के सर्वोच्च स्कोरर रवींद्र जडेजा रहे जिन्होंने 35 गेंदों पर 50 रनों की पारी खेली। यह जडेजा का आईपीएल में पहला अर्धशतक और सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 47 रनों पर नाबाद रहे।

वार्नर ने टॉ़स जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और युवा बल्लेबाज प्रियम गर्ग के नाबाद 51 रनों के दम पर 20 ओवरों में पांच विकेट गंवा कर 164 रनों का स्कोर खड़ा किया। हैदराबाद की गेंदबाजी के हिसाब से यह स्कोर अच्छा था जिसका वो बचाव कर सकती थी और उसने किया भी यही। चेन्नई को उसने पूरे ओवर खेलने के बाद 157/5 रनों पर रोक दिया।

चेन्नई के लिए इस मैच में न फाफ डु प्लेसिस का बल्ला चला और न ही वापसी कर रहे अंबाती रायडू और ड्वेन ब्रावो का। रवींद्र जडेजा (50 रन, 35 गेंद 5 चौके, 2 छक्के) और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 47 रन, 36 गेंद, 4 चौके, 1 छक्का) ने टीम को जीत दिलाने की कोशिश की लेकिन चूक गए।

आखिरी के तीन ओवरों में चेन्नई को 63 रनों की जरूरत थी। जडेजा ने अपना पहला आईपीएल अर्धशतक जमाया लेकिन 18वें ओवर की चौथी गेंद पर वो आउट हो गए। उनके स्थान पर आए सैम कुरैन (नाबाद 15) ने आते ही छक्का मारा। अगले ओवर में हैदराबाद को झटका क्योंकि उसके सबसे अनुभवी गेंदबाज और डेथ ओवरों के स्पेशलिस्ट भुवनेश्वर कुमार 19वें ओवर की दूसरी गेंद फेंकते हुए चोट लग गई और वो बाहर चले गए।

यह भी पढ़ें- IPL 2020, CSK vs SRH : हार के बाद निराश धोनी ने बताया, ‘बार – बार टीम कर रही है एक ही तरह की गलतियां’

आखिरी ओवर में 28 रन चाहिए थे। वार्नर के पास विकल्प नहीं थे इसलिए उन्होंने यह ओवर युवा अब्दुल समद को दिया। उन्होंने पहली गेंद वाइड डाल दी जिस पर चौका चला गया। इस गेंद पर पांच रन आए। अब छह गेंदों में 23 रन चाहिए थे। पांचवी गेंद पर धोनी ने चौका, तीसरी गेंद पर धोनी ने एक रन लिया और स्ट्राइक कुरैन को दी। कुरैन ने भी एक रन लिया और चेन्नई को दो गेंदों पर 15 रन चाहिए थे जो बने नहीं।

चेन्नई को लेकिन अच्छी शुरुआत नहीं मिली थी। 42 रनों पर उसने अपने चार विकेट- शेन वाटसन (1), अंबाती रायडू (8) और फाफ डु प्लेसिस (22), केदार जाधव (3) खो दिए थे।

यहां से जडेजा और धोनी ने 72 रनों की साझेदारी कर टीम को मैच में बनाए रखा था, लेकिन इन दोनोंकी कोशिश अंजाम तक नहीं पहुंच सकी।

इससे पहले वार्नर ने टॉस जीत बल्लेबाजी चुनी। नई ऊर्जा के साथ उतरी चेन्नई को शुरुआत भी सकारात्मक मिली। दीपक चहर ने अपनी इनस्विंग से टीम को जॉनी बेयरस्टो (0) का विकेट पहले ही ओवर में दिला दिया।

ठाकुर ने पैर जमाते दिख रहे मनीष पांडे (29) को आठवें ओवर में बोल्ड कर हैदराबाद का स्कोर 47/2 कर दिया।

कुछ यही हाल हैदराबाद के वार्नर (28) का हुआ और वह भी अपनी अच्छी शुरुआत को लंबी नहीं ले जा पाए। पीयूष चावला की गेंद पर डु प्लेसिस ने उनका बाउंड्री पर लाजवाब कैच पकडा। हैदराबाद को अगली गेंद पर एक और झटका लगा।

युवा बल्लेबाज प्रियम के साथ हुई गलतफहमी के चलते रायडू और धोनी ने मिलकर केन विलियम्सन को (9) को रन आउट कर दिया। प्रियम ने फिर इस गलती का भुगतान अर्धशतकीय पारी खेल किया। अंत में उन्होंने अपनी जिम्मेदारी को समझा और टीम को एक सम्मानजनक स्कोर दिया। उनके साथ अभिषेक शर्मा भी अच्छी पारी खेलेत हुए 24 गेंदों में चार चौके और एक छक्का मारा। प्रियम और अभिषेक ने 77 रनों की साझेदारी की।