अरुणाचल प्रदेश के 17 साल के किशोर की ‘किडनैपिंग’ मामले में इंडियन आर्मी ने चीनी सेना से किया संपर्क, कहा- प्रोटोकॉल के तहत भेजें वापस

    407
    chinese army abducted arunachal pradesh boy

    अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) से चीन (China) की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) द्वारा अगवा किए गए किशोर को लेकर भारतीय सेना ने PLA से संपर्क किया. रक्षा सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है. सूत्रों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही भारतीय सेना (Indian Army) ने तुरंत चीनी सेना (Chinese Army) से संपर्क किया. सेना ने उनके इलाके में अगवा किए गए किशोर का पता लगाने और उसे स्थापित किए गए प्रोटोकॉल के तहत लौटाने को कहा है. अगवा किए गए किशोर की पहचान मिराम तरोन (Miram Taron) के रूप में हुई है.

    इस मामले से परिचित अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि अरुणाचल प्रदेश के एक 17 वर्षीय किशोर को PLA ने राज्य के अपर सियांग जिले (Upper Siang district) से कथित तौर पर अपहरण कर लिया. पुलिस ने कहा कि इस किशोर की पहचान मिरान तरोन के रुप में हुई है, जो मूल से अपर सियांग जिले के जिडो गांव का रहने वाला है. जिला अधिकारियों ने कहा कि युवक अन्य लोगों के साथ भारत-चीन के बीच सीमा (India-China Border) क्षेत्र में शिकार कर रहे थे. उसी दौरान ये घटना सामने आई. राज्य के एक बीजेपी सांसद ने भी किशोर के गायब होने की पुष्टि की.

    पुलिस ने सेना को दी अगवा होने की जानकारी
    वहीं, अपर सियांग के डिप्टी कमिश्नर शास्वत सौरभ ने कहा, ‘युवक स्थानीय शिकारियों के एक समूह में था. उनके समूह के अन्य सदस्य जो भागने में सफल रहे, उन्होंने हमें बताया कि उन्हें PLA ने भारतीय हिस्से से अगवा कर लिया था.’ उन्होंने कहा, ‘जैसे ही हमें मामले की जानकारी मिली, हमने क्षेत्र में सक्रिय भारतीय सेना के अधिकारियों को सूचित किया. फिलहाल युवक को जल्द से जल्द छुड़ाने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं.’ ये पहला मौका नहीं है, जब चीनी सेना ने भारतीय हिस्से से लोगों को अगवा किया है. ऐसी ही एक घटना सितंबर 2020 में सामने आई थी, जब पांच लोगों को अगवा किया गया और एक हफ्ते बाद उन्हें रिहा किया गया.

    शियांग नदी के पास हुई घटना
    दूसरी ओर, अरुणाचल प्रदेश से बीजेपी सांसद तापिर गाओ ने चीन ने 17 वर्षीय एक किशोर का अपहरण कर लिया है. उन्होंने कहा कि चीनी सेना ने सियुंगला क्षेत्र के लुंगता जोर इलाके से किशोर का अपहरण किया. PLA से बचकर भागने में कामयाब रहे तरोन के मित्र जॉनी यइयिंग ने स्थानीय अधिकारियों को अपहरण के बारे में जानकारी दी. सांसद ने कहा कि यह घटना उस स्थान के पास हुई, जहां शियांग नदी अरुणाचल प्रदेश में भारत में प्रवेश करती है.