नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने एक बार फिर मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला

214

जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में चुनाव से पहले एक बार फिर सियासत गर्मा गई है। पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ( Mehbooba Mufti ) के बाद अब नेशन कॉन्फ्रेंस ( National Conference ) प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ( Farooq Abdullah ) ने भी केंद्र की मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है। इसी कड़ी में फारूक अब्दुल्ला ने अब BSF के अधिकार क्षेत्र बढ़ाए जाने के मुद्दे को उठाया है। अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार पर बहुमत के दम पर तानाशाही का आरोप लगाया है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस चीफ अब्दुल्ला ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को लगता है कि वो बहुमत के दम पर कुछ भी निर्णय ले सकती है। बिना परिणाम सोचे, लोगों की चिंता किए बगैर केंद्र सरकार मनमाने फैसले ले रही है। बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाया जाना इन्हीं में से एक है।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि पंजाब में मोदी सरकार ने 50 किमी क्षेत्र बीएसएफ को सौंप दिया क्यों? क्या उनकी पुलिस इसे नियंत्रित करने में सक्षम नहीं है? अब्दुल्ला ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि जो लड़ाई नागालैंड में देखने को मिल रही है वही लड़ाई अब पंजाब में देखने को मिल सकती है।

एनसी चीफ ने कहा कि, हमने कभी भारत के खिलाफ कोई नारा नहीं लगाया। हमें पाकिस्तानी कहा जाता था। मुझे खालिस्तानी भी कहा गया। हम महात्मा गांधी के रास्ते पर चलते हैं और गांधी के भारत को वापस लाना चाहते हैं।