देश में पैदा हुए कड़वाहट के माहौल में घुली मीठी ईद और अक्षय तृतीया की मिठास

389
EID Akshay Tritiya 2022

खुदा की इबादत में रमजान के पूरे महीने बिना कुछ खाये-पीये रोजेदारों के लिए तोहफे के तौर पर Eid al-Fitr आता है, अल्लाह के शुकराने के तौर पर रोजेदार ईदगाह व मस्जिदों में नमाज अदा कर अपने परवर दिगार का शुक्रिया अदा करते है। इसी आस्था के तहत आज देशभर में ईद की नमाज़ अदा की गई। भारत में त्योहार बड़े धूमधाम से मनाए जाते हैं। अक्षय तृतीया भी ऐसी ही पर्व में से एक है जिसे देश में बहुत शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन शुरू किए गए कार्य में सफलता मिलती है। अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदना भी काफी शुभ माना गया है।

आज Akshaya Tritiya , Eid al-Fitr और भगवान परशुराम जन्मोत्सव तीनो ही पर्व एक साथ मनाए जा रहे हैं। ऐसा संयोग पिछले साल भी बना था। मुस्लिम धर्म में जहा ईद के मौके पर जकात यानी दान देने का रिवाज है, वही हिंदू धर्म में Akshaya Tritiya के दिन भी दान देने का विशेष महत्व है।

हिंदू और मुसलमान सहित हर समुदाय के लोग अक्षय तृतीया, भगवान परशुराम जन्मोत्सव और ईद का त्योहार एक साथ बड़े ही धूम-धाम से माना रहे है और एक-दूसरे को शुभकामना संदेश दे रहे हैं। रामनवमी व हनुमान जयंती पर निकली शोभायात्राओं पर हुए पथराव के बाद देश में जो कड़वाहट का माहौल पैदा हुआ था, वह आज दूर होता महसूस हो रहा है। सोशल मीडिया पर दिख रहे संदेश भी इसी बात का संकेत दे रहे है की अब कड़वाहट का दौर कमजोर पड़ रहा है।