पनामा पेपर्स को लेकर ऐश्वर्या राय बच्चन तलब,प्रवर्तन निदेशालय ने बुलावा भेजा

391

पनामा पेपर लीक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने ऐश्वर्या राय बच्चन को फेमा मामले में पूछताछ के लिए तलब किया था। उन्हें सोमवार (20 दिसंबर) को ईडी के दिल्ली कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है। ईडी ने इससे पहले 9 नवंबर 2021 को फेमा की धारा 37 के तहत ऐश्वर्या राय को भी तलब किया था। समन उनके मुंबई स्थित आवास ‘प्रतिक्षा’ को भेजा गया था। अभिनेत्री को 15 दिनों के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया था।

हुचर्चित पनामा पेपर्स लीक मामले में बच्चन परिवार की बहु और एक्ट्रेस ऐश्वर्या राय आज दिल्ली के लोकनायक भवन में ईडी के सामने पेश होंगी। पनामा पेपर्स मामले की लंबे समय से जांच चल रही है, इस मामले में अभिषेक बच्चन से भी पूछताछ हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक ED के अधिकारियों ने ऐश्वर्या से पूछने वाले सवालों की लिस्ट तैयार कर ली है। हालांकि ऐश्वर्या राय ने पहले भी इन दस्तावेजों को पूरी तरह से झूठ का पुलिंदा करार दिया है। इन दस्तावेजों में फिल्मी सितारों और उद्योगपतियों सहित 500 भारतीयों के नाम शामिल हैं।

इस पेपर लीक में अमिताभ बच्चन और ऐश्वर्या राय समेत कई भारतीय हस्तियों के नाम थे। सभी लोगों पर टैक्स धोखाधड़ी के आरोप लगे थे। इस मामले में नाम सामने आने के बाद अमिताभ ने कहा था कि उन्होंने भारतीय नियमों के तहत ही विदेश में धन भेजा है। उन्होंने पनामा पेपर्स में सामने आई कंपनियों से भी किसी तरह का संबंध होने से मना किया था।

टैक्स हेवेन कहे जाने वाले देश पनामा की एक लॉ फर्म मोसेक फोंसेका का 40 साल का डेटा 3 अप्रैल, 2016 को लीक हो गया था। इसमें खुलासा हुआ कि कैसे दुनियाभर के अमीर और प्रभावशाली लोग टैक्स बचाने के लिए पैसा ऑफ-शोर कंपनियों में लगा रहे हैं। इस तरह से बड़े तौर पर टैक्स चोरी और मनी लॉन्ड्रिंग तक हो रही थी। इन दस्तावेजों में फिल्मी सितारों और उद्योगपतियों सहित 500 भारतीयों के नाम शामिल हैं। इनमें बच्चन परिवार का नाम भी सामने आया था। दावा किया गया कि ऐश्वर्या राय देश से बाहर एक कंपनी की डायरेक्टर और शेयरहोल्डर थीं। ऐश्वर्या के अलावा उनके पिता के. राय, मां वृंदा राय और भाई आदित्य राय भी कंपनी में उनके पार्टनर थे।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में बताया था कि पनामा पेपर लीक मामले में भारत से संबंधित लोगों के संबंध में कुल 20,078 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति का पता चला है।