कोरोना की तीसरी लहर रोकने का प्रयास, BMC ने कहा – मुंबई में छठ पर समुद्र तटों पर भीड़ नहीं लगने दी जाएगी

    316

    बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) ने कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर को रोकने के प्रयास के तहत मुंबई में समुद्र तटों पर आगामी छठ पूजा पर भीड़भाड़ नहीं लगने दी जाएगी. संशोधित दिशानिर्देश के अनुसार बीएमसी उसके बजाय शहर के अलग अलग क्षेत्रों में कृत्रिम तालाब बनायेगी एवं इस काम का सारा खर्च वह वहन करेगी.

    शिवसेना के नियंत्रण वाली बीएमसी ने पुलिस विभाग से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि छठ पूजा पर समुद्र तटों पर भीड़भाड़ न हो. छठ पूजा मुख्यत: बिहार के लोग मनाते हैं और इस बार छठ 10 और 11 नवंबर को है.

    बीएमसी ने कहा कि संबंधित क्षेत्रीय अधिकारी कृत्रिम तालाब बनाने एवं त्योहार संपन्न हो जाने के बाद उन्हें भरने के लिए जिम्मेदार होंगे. सीमित तरीके से छठ मनाने के पीछे की वजह स्पष्ट करते हए बीएमसी ने कहा कि मुंबई में एक अक्टूबर से छह नवंबर तक कोविड-19 के 1753 मामले सामने आये हैं. उसने कहा कि चूंकि कोविड-19 की तीसरी लहर के आने की आशंका है इसलिए सीमित तरीके से यह त्योहार मनाना जरूरी है. अगले साल के प्रारंभ में बीएमसी के चुनाव होने वाले हैं.