उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी

177
Congress youth Manifesto
Congress youth Manifesto

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी युवाओं के लिए अलग घोषणपत्र ‘भर्ती विधान’ लेकर आई है. राहुल गांधी और प्रियंका ने शुक्रवार को भर्ती विधान जारी किया. कांग्रेस इन चुनावों में महिलाओं और युवाओं पर फोकस कर रही है.

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी आज यहां युवा घोषणापत्र रिलीज कर रही है. सोच ये है कि यूपी के युवाओं के भविष्य के लिए खोखले शब्द नहीं, किस तरह हम आपको रोजगार दिलाएंगे. इस घोषणापत्र में हमने यही लिखा है. ये घोषणापत्र बनाने के लिए पार्टी ने यूपी के युवाओं से बात की है और उनकी आकाक्षांओं को इसमें डाला है. प्रधानमंत्री ने कहा था कि हम देश के युवाओं को सालाना दो करोड़ रोजगार देंगे लेकिन जो हो रहा है वह आप जानते हैं.

प्रियंका गांधी ने कहा कि ये यूपी के युवाओं से बात करके बनाया गया घोषणापत्र है. इसके लिए हमारी टीम ने पूरे प्रदेश के युवाओं से बात की है. इसे भर्ती विधान इसलिए कहा गया है. क्योंकि सबसे बड़ी समस्या भर्ती की है. प्रियंका गांधी ने कहा कि हम 20 लाख लोगों को नौकरियां देंगे. उन्होंने कहा कि युवाओं का उत्साह टूट गया है. हम युवाओं को भरोसा देना चाहते हैं कि हम कैसे उनका भरोसा बहाल करेंगे, कैसे रोजगार देने में उनकी मदद करेंगे.

प्रियंका गांधी ने कहा कि इस भर्ती विधान में पांच सेक्शन हैं, जिनमें युवाओं की अलग अलग समस्याओं पर फोकस किया गया है. प्राथमिक विद्यालयों में खाली 1.5 लाख खाली पद भरे जाएंगे. माध्यमिक, उच्च शिक्षा, पुलिस आदि विभागों में खाली पदों को भरा जाएगा. उन्होंने कहा कि संस्कृत के शिक्षक, उर्दू के शिक्षक, आंगनबाड़ी, आशा आदि में खाली सभी पदों को भरा जाएगा. भर्ती प्रक्रिया में नौजवानों का जो भरोसा टूटा है, उसे बहाल करने के लिए सभी परीक्षाओं के फॉर्म के लिए शुल्क माफ होंगे और बस, ट्रेन यात्रा फ्री होगी.

प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि एक परीक्षा कैलेंडर जारी होगा, जिसमें भर्ती विज्ञापन, परीक्षा, नियुक्ति की तारीखें दर्ज होंगी और इसका उल्लंघन होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. आरक्षण के घोटाले को रोकने के लिए हर भर्ती के लए सामाजिक न्याय पर्यवेक्षक होंगे. उन्होंने कहा कि युवाओं के रोजगार के लिए नए अवसर प्रदान किए जाएंगे. मल्लाहों और निषादों के लिए विश्वस्तरीय संस्थान बनाया जाएगा, जिसमें उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा. अति पिछड़े समुदाय के युवाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए 1 फीसदी ब्याज की दर से कर्ज दिया जाएगा.