क्यों बरसे केंद्र पर राहुल? ‘भारत खतरे में’ बोले कांग्रेस सांसद

334
Rahul Gandhi Lok Sabha speech analysis
Rahul Gandhi Lok Sabha speech analysis

भारत के अन्दर बसते है दो और भारत… जब यह बयान राहुल गाँधी का लोक सभा में गूंजा तो सत्ता पक्ष की प्रतिक्रिया आना तो तय था…

नमस्कार मैं ख़ुशी सोनकर आज आपके बीच मौजूद हूँ लोक सभा में राहुल गाँधी के दिए भाषण के विश्लेषण के साथ.

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी बुधवार को लोकसभा मे मोदी सरकार के खिलाफ जमकर गरजे. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल ने पेगासस से लेकर महंगाई और बेरोजगारी तक का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि केंद्र इस देश को एक छड़ी से नहीं चला सकता है.

राहुल गाँधी ने दो भारत का ज़िक्र करते हुए बोला कि – एक भारत गरीबों के लिए है, और एक भारत अमीरों के लिए। इन दोनों भारत के बीच की खाई लगातार बढ़ती जा रही है।

बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए राहुल गाँधी बोले कि – भारत में manufacturing jobs में 46% की गिरावट आई, क्योंकि आपने असंगठित क्षेत्र को तबाह कर दिया है, आपने MSME को तबाह कर दिया है, आप पूरी तरह से 5-10 लोगों पर केंद्रित हैं।

राहुल गाँधी ने अंबानी-अदानी को AA variant बताते हुए कहा कि AA संक्रमण भारतीय अर्थव्यवस्था में फैल रहा है। मुझे बड़े उद्योगों से कोई समस्या नहीं है, उन पर ध्यान दें लेकिन कृपया यह जान लें कि वे आपके लिए रोजगार पैदा नहीं कर सकते। छोटे और मध्यम उद्योग ही देश में रोजगार पैदा कर सकते हैं।

राहुल गाँधी ने राज्यों के बीच हो रहे भेद-भाव पर बात करते हुए कहा- संविधान में भारत को राज्यों के संघ के रूप में वर्णित किया गया है. इसका मतलब है कि सारे राज्यों को सामान्य अधिकार मिलना चाहिए.
भारत को फूलों का गुलदस्ते बताते हुए राहुल गाँधी ने कहा की कोई भी शक्ति देश की एकता को चुनौती नहीं दे पाई है।

राहुल ने पीएम मोदी को ‘शहंशाह’ बताते हुए कहा की एक राजा का विचार वापस आया है जिसे कांग्रेस ने 1947 में हटा दिया था। अब हमारे राज्य और लोगों के बीच बातचीत के साधनों पर एक ही विचार से हमला किया जा रहा है। इसलिए, उदाहरण के लिए, आज तमिलनाडु के विचार को भारतीय संस्था से बाहर रखा गया है। तुम कह रहे हो यहां से चले जाओ। उनके पास आवाज नहीं है। पंजाब के किसान खड़े हो सकते हैं लेकिन उनके पास आवाज नहीं है। उनके विरोध प्रदर्शन के दौरान कोरोनावायरस महामारी के दौरान उनकी मृत्यु हो गई।

राहुल गाँधी ने भाजपा पर आरोप लगते हुए कहा कि – केरल के लोगों की एक संस्कृति है, उनकी गरिमा है, उनका एक इतिहास है। राजस्थान के लोगों की एक संस्कृति होती है, उनकी गरिमा होती है, उनका एक इतिहास होता है, उनकी एक जीवन शैली होती है। यह फूलों के गुलदस्ते की तरह है। मैं सभी लोगों से सीखता हूं। मैं आपसे सीखता हूं। एक और दृष्टिकोण है कि भारत पर केंद्र की एक छड़ी से शासन किया जा सकता है। हर बार ऐसा हुआ है, छड़ी टूट गई है।

राहुल गाँधी ने सरकार की विदेश नीति पर कहा कि- हम सब राष्ट्रवादी हैं। चीन की योजना डोकलाम में दिखाई देती है . यह भारतीय राष्ट्र के लिए एक बहुत ही गंभीर खतरा है। हमने जम्मू-कश्मीर और अपनी विदेश नीति में बड़ी रणनीतिक गलतियां की हैं। यह बहुत स्पष्ट है कि चीनी और पाकिस्तानी योजना बना रहे हैं। राहुल गाँधी ने भारत को अलग-थलग और घिरा हुआ बताते हुए कहा कि- अपने आप से पूछें कि गणतंत्र दिवस पर आपको मेहमान क्यों नहीं मिल पा रहे हैं। भारत आज पूरी तरह से अलग-थलग और घिरा हुआ है। चीनियों का एक बहुत स्पष्ट दृष्टिकोण है कि वे क्या करना चाहते हैं।आप चीन और पाकिस्तान को एक साथ लाए हैं. भारत की विदेश नीति का एकमात्र सबसे बड़ा रणनीतिक लक्ष्य पाकिस्तान और चीन को अलग रखना है और आप उन्हें करीब लाए हैं। हमारे सामने जो ताकत है, उस ताकत को कम मत समझो। यह भारत के लोगों के खिलाफ सबसे बड़ा अपराध है। चीन का नजरिया साफ है।

राहुल गाँधी ने कहा मेरे परिवार ने देश सेवा की है और मेरे परदादा को 15 साल की जेल हुई थी। मेरी दादी को 32 बार गोली मारी गई थी। मेरे पिता को बम से उड़ा दिया गया था। इसलिए मुझे पता है कि मैं किस बारे में बात कर रहा हूं। तुम किसी बहुत, बहुत खतरनाक चीज के साथ खिलवाड़ कर रहे हो। मैं आपको रुकने की सलाह दे रहा हूं। यदि आप नहीं रुके तो आप बड़ी समस्या खड़ी कर देंगे।
अब देखना यह होगा कि सत्ता पर बैठी भाजपा का शीर्ष नेत्रत्व इस पर क्या प्रतिक्रया देता है.