चीन ने UK की खुफिया एजेंसी पर कसा तंज कहा- ‘जेम्स बॉन्ड की कुछ ज्यादा फिल्में देख लीं है’

245
china and uk
china and uk

चीन ने ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी पर भड़कते हुए उसके दावों को खारिज कर दिया है. जिसमें चीनी सरकार पर ब्रिटिश संसद में अप्रत्यक्ष हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया गया है. चीन ने ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 द्वारा जारी की गई रिपोर्ट पर नाराजगी जताई है. जिसमें एजेंसी ने कहा है कि चीनी मूल की ब्रिटिश वकील चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) और चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से यूके की संसद में ‘राजनीतिक हस्तक्षेप की गतिविधियों में शामिल’ है. इसपर चीन की तरफ से कहा गया है कि MI5 जेम्स बॉन्ड फिल्म की एक और स्क्रिप्ट बनाने के लिए मिशन मोड पर काम कर रहा है.

MI5 की रिपोर्ट के अनुसार, चीनी मूल की वकील क्रिस्टीन ली कम्युनिस्ट पार्टी के लिए जासूस के तौर पर काम कर रही है. जिसका मकसद ब्रिटेन की राजनीति में हस्तक्षेप करने के लिए संसद में घुसपैठ करना है. इस रिपोर्ट पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेन्बिन ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में शुक्रवार को कहा कि बीजिंग को ‘तथाकथित हस्तक्षेप करने की ना तो कोई जरूरत है और ना ही वह कभी ऐसा करेगा.’ उन्होंने कहा कि ‘ये आरोप जेम्स बॉन्ड की फिल्मों से प्रेरित हो सकते हैं.’

ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी ने ली पर आरोप लगाया है कि वह ब्रिटेन की राजनीतिक पार्टियों और सांसदों को डोनेशन दे रही हैं. अब इस खुलासे के बाद संसद के सदस्यों के लिए खुद को मिले चंदे की जानकारी देना जरूरी हो गया है. ली की कंपनी की तरफ से जारी की गई जानकारी के मुताबिक, ‘क्रिस्टीन ली एंड कंपनी ने ब्रिटेन और चीन के बीच मजबूत सहयोग विकसित किया है. लंदन में चीनी दूतावास को कानूनी मामलों पर सलाह दी है. इसके ऑफिस ब्रिटेन और चीन में हैं.’

जब ली और उनकी कंपनी से हालिया खुलासों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. वहीं मामले में चीन के विदेश मंत्री ने कहा, ‘महज व्यक्तिगत अनुमान के आधार पर निराधार सनसनीखेज कमेंट करना बेहद गैर-जिम्मेदाराना है. हमें इस बात की उम्मीद है कि ब्रिटेन के संबंधित अधिकारी ‘चीन के खतरे के सिद्धांत’ को बढ़ावा देकर आधारहीन टिप्पणी करने या भयावह राजनीतिक एजेंडे को आगे बढ़ाने से परहेज करेंगे.