Bihar Board Exam 2022: बिहार बोर्ड की 10वीं और 12वीं परीक्षा में बैन हुआ जूता-मोजा

249
Bihar Board 10th 12th

बोर्ड परीक्षा में नकल पर नकेल कसने के लिये बिहार बोर्ड ने कुछ नियमों में बदलाव किए हैं. इन नियमों में एक नियम परीक्षा में चप्‍पल पहनकर आने की है. जी हां बिहार बोर्ड के नियमों के अनुसार छात्रों को बोर्ड परीक्षा देने के लिये चप्‍पल पहनकर एग्‍जामिनेशन हॉल में आना होगा, तभी उन्‍हें एग्‍जाम देने की अनुमति मिलेगी. बीएसईबी ने यह नियम मैट्र‍िक और इंटर दोनों कक्षाओं के छात्रों के लिये जारी किए हैं. किसी भी छात्र को जूता-मोजा पहनकर परीक्षा हॉल में आने की अनुमति नहीं होगी. बता दें कि बोर्ड परीक्षा 1 फरवरी 2022 से शुरू होने वाली है. इंटरमीडिएट की परीक्षा 1 फरवरी से और मैट्र‍िक परीक्षा 17 फरवरी से शुरू होगी. 12वींं की परीक्षा जहां 14 फरवरी को समाप्‍त हो जाएगी, वहीं 10वीं की परीक्षा 24 फरवरी तक चलेगी. बिहार बोर्ड 10वीं और 12वीं के छात्र परीक्षा में बैठने से पहले इन नये नियमों को जरूर जान लें.

  1. चप्‍पल पहनकर आना होगा:
    बदले हुए नियमों में पहला नियम है चप्‍पल पहनकर बोर्ड परीक्षा देने का. हालांकि लडकियों को खुली सैंडल पहनकर आने की छूट दी गई है. दरअसल, इससे पहले कई बार ऐसा देखा गया है कि छात्र जूते मोजे में चिट छुपाकर ले आते हैं. इसलिये छात्रों चिटिंग करने से रोकने के लिये बोर्ड ने यह कदम उठाया है.
  2. एक बेंच पर स‍िर्फ दो छात्र :
    इस बार बोर्ड परीक्षा में एक बेंच पर स‍िर्फ दो ही छात्र बैठेंगे. यह कदम कोरोना के बढते संक्रमण को देखते हुए उठाया गया है. अगर बेंच और डेस्‍क की कमी है तो अन्‍य स्‍कूलों से इसकी व्‍यवस्‍था की जाएगी.
  3. परीक्षा केंद्र पर पहुंचना होगा 10 मिनट पहले :
    10वीं और 12वीं के छात्रों को परीक्षा केंद्र पर परीक्षा शुरू होने से कम से कम 10 मिनट पहले पहुंचना होगा. लेट आने वाले छात्रों को पेपर देने का मौका नहीं मिलेगा. यानी सुबह की श‍िफ्ट 9:30 वाली परीक्षा में शामिल होने के लिये छात्रों को 9:20 बजे तक और दोपहर की शिफ्ट के लिये 1:35 बजे तक एग्‍जाम हॉल में एंट्री करना होगा.