Bigg Boss 15: अफसाना ने प्रतीक और सिंबा पर लगाया ‘गलत तरीके से छूने’ का आरोप, मचा बड़ा बवाल

277

बिग बॉस 15 (Bigg Boss 15) के हालिया एपिसोड में दर्शकों को ढेर सारा ड्रामा देखने को मिला. एक तरफ जहां सिम्बा नागपाल (Simba Nagpal) और उमर रियाज (Umar Riaz) के बीच हाथापाई हुई, तो वहीं दूसरी तरफ सिंगर अफसाना खान (Afsana Khan) ने सिम्बा और प्रतीक सहजपाल (Pratik Sehajpal) पर उनके साथ बदसलूकी करने का आरोप लगाया, जिससे परिवार के लोग काफी गुस्से में आ गए. वहीं, अफसाना का समर्थन करते हुए करण कुंद्रा (Karan Kundrra) भी प्रतीक और सिम्बा पर काफी भड़के.

अफसाना खान, जो टास्क में प्रतीक और सिम्बा की अपोजिट टीम में थीं, उन्होंने दोनों पर अनुचित तरीके से उन्हें छूने का आरोप लगाया. टास्क का राउंड खत्म होने के बाद अफसाना बाथरूम में गईं और गलत तरीके से छूने के लिए सिम्बा पर चिल्लाने लगीं. उन्होंने सिम्बा को उनसे दूर रहने की चेतावनी भी दी और साथ ही कहा कि अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया तो वह उनका सिर फोड़ देंगी.

प्रतीक और सिम्बा को मिला इन कंटेस्टेंट्स का साथ
सिम्बा पहले ही उमर रियाज के साथ हुई लड़ाई के कारण गुस्से में थे और अफसाना के इन आरोपों पर वे और भड़क गए. उन्होंने अफसाना से कहा कि कोई शौक नहीं है तुम्हें हाथ लगाने का, तेरे मुंह भी नहीं लगना चाहता तू जा यहां से. इसके बाद सिम्बा और प्रतीक को शमिता शेट्टी, जय भानुशाली और दूसरे लोगों से समर्थन मिला. शमिता दोनों का समर्थन करते हुए कहती हैं कि अगर अफसाना नकली नारियलों को अपनी टी-शर्ट के अंदर छिपाती हैं और फिर डिफेंड करती हैं, तो यह उनकी चॉइस है और वह वुमन कार्ड नहीं खेल सकती इसपर.

उन्होंने साथ में ये भी कहा कि कोई भी चाहता तो वह उसके टी-शर्ट के अंदर अपना हाथ डालकर नारियलों को निकाल सकता था. जब हर कोई प्रतीक और सिम्बा का समर्थन कर रहा था, तो वहीं दूसरी तरफ करण कुंद्रा, अफसाना के सपोर्ट में आगे आए. उन्होंने कहा कि अगर कोई लड़की किसी मुद्दे को उठा रही है, तो उसे आप नजरअंदाज नहीं कर सकते.

वह शमिता से कहते हैं कि अगर कोई लड़की खतरनाक जगह पर जाती है और उसका रेप होता है तो आप ये नहीं कह सकते कि उसकी गलती है. इसके बाद प्रतीक भी गुस्से में आ जाते हैं. वह करण से कहते हैं कि एक टाइम पर तुम मेरे मेंटर थे, लेकिन तुमने इस स्थिति की तुलना एक बहुत ही गंभीर उदाहरण के साथ की है और यह बहुत ही खराब और बेवकूफाना है. प्रतीक द्वारा इतनी बदतमीजी से बात करने पर करण कुंद्रा टूट जाते हैं और रोने लगते हैं, जिसके बाद शमिता उन्हें शांत करते हुए नजर आती हैं.