दुनिया में एक और खतरे की दस्तक! अब Powassan वायरस हुआ कातिल..

105

दुनिया में तरह-तरह के वायरस सामने आ रहे हैं, जो इंसानों के लिए बेहद घातक हैं. कुछ वायरस के इलाज वैज्ञानिकों व चिकित्सकों के पास हैं तो कुछ वायरस से होने वाली बीमारी अभी भी लाइलाज हैं. इसी कड़ी में पोवासन वायरस दुनिया भर के स्वास्थ्य विशेषज्ञों के लिए चुनौती बना हुआ है. टिक्स के काटने से फैलने वाले इस वायरस से होने वाली बीमारी का अभी तक उपाय नहीं खोजा गया है. वहीं इस वायरस के चलते अमेरिका में एक मौत का मामला भी सामने आया है.

इंसानों में पोवासन वायरस के संक्रमण की सूचना मिली

इसके चलते मेन सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने कहा कि इस दुर्लभ वायरस से एक मौत के बाद स्वास्थ्य अधिकारी लोगों को घातक पोवासन वायरस बीमारी के बारे में सचेत कर रहे हैं, जो टिक से फैलने वाली एक लाइलाज बीमारी है. द इंडिपेंडेंट के अनुसार, अमेरिका में हर साल 25 लोग पोवासन वायरस से संक्रमित होते हैं. पोवासन वायरस आमतौर पर संक्रमित हिरण टिक, ग्राउंडहॉग टिक या गिलहरी की टिक के काटने से मनुष्यों में फैलता है. हालांकि पोवासन के मामले दुर्लभ हैं, लेकिन हाल के वर्षों में अधिक मामले सामने आए हैं. अमेरिका, कनाडा और रूस में इंसानों में पोवासन वायरस के संक्रमण की सूचना मिली है.