यूपी में भाजपा सरकार की वापसी के बाद अफसरों के कड़े तेवर, जिलाधिकारी के औचक निरीक्षण से कलेक्ट्रेट कर्मचारियों में हड़कंप

212
Officer raided government offices

उत्तर प्रदेश में दोबारा भाजपा सरकार की वापसी के बाद अब अफसर कड़े तेवरों में नज़र आ रहे हैं. उन्नाव के प्रभारी जिलाधिकारी/ मुख्य विकास अधिकारी आईएएस दिव्यांशु पटेल ने कड़ा रुख अपनाते हुए आरटीओ में हो रही दलाली की शिकायत पर कल आरटीओ में छापेमारी की दलालों को पकड़ कर मुकदमा लिखावाया है. साथ ही एआरटीओ को सख्त निर्देश दिए की इमानदारी से काम किया जाए अगर दोबारा यहां पर ऐसा पाया गया तो कर्मचारियों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी. अपने तल्ख तेवर और ईमानदारी के लिए जाने जाने वाले दिव्यांशु पटेल जिला अधिकारी उन्नाव के छुट्टी पर होने पर इस समय प्रभारी जिलाधिकारी उनका भी कार्यभार संभाल रहे हैं.

प्रभारी जिला अधिकारी का कार्यभार संभालते ही आरटीओ में मिल रही शिकायतों पर अचानक पहुंचकर दलालों को पकड़ा और उन पर मुकदमा भी दर्ज करवाया. इसके साथ ही आरटीओ के दस्तावेज भी खंगाले. एआरटीओ आदित्य ने पार्टी को कड़े दिशा निर्देश दिए अगर काम में लापरवाही पाई गई तो कार्रवाई की जाएगी. देर रात तक प्रभारी डीएम दिव्यांशु पटेल सड़कों पर रहे, शहर में लग रहे जाम को लेकर मास्टर प्लान बना कर भी तैयार किया है.

“दोबारा लापरवाही होने पर होगी निलंबन की कार्रवाई”
वहीं आज दिव्यांशु पटेल ने विकास भवन कलेक्ट्रेट शिक्षा विभाग के कार्यालयों का निरीक्षण किया, अनियमितता मिलने पर संबंधित अधिकारी को जमकर फटकार लगाई. साथ ही चेतावनी देते हुए कहा कि अगर दोबारा कार्य में लापरवाही पाई गई तो निलंबन की कार्रवाई की जाएगी. इसके बाद सीडीओ कलेक्ट्रेट परिसर पहुंचे पीछे के रास्ते पर पहुंचने से कर्मचारियों में हड़कंप मच गया. सूचना कार्यालय पहुंचे जहां पर अपर सूचना अधिकारी सोनी सिंह अनुपस्थित मिली. मौजूद कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए अनुपस्थित मिले कर्मचारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए. वहीं कलेक्ट्रेट में निरीक्षण के दौरान जिला सूचना कार्यालय पहुंचे तो वहां पर अपर जिला सूचना अधिकारी सोनी सिंह मौजूद नहीं थी.

वेतन रोक कर प्रशासन को लिखा पत्र
कुर्सी खाली थी जिस पर प्रभारी जिलाधिकारी ने इनका वेतन रोक कर प्रशासन को पत्र लिखा है. प्रशासन के कड़े रुख के बाद कर्मचारी सतर्क हो गए हैं और विभागीय कार्य को जिम्मेदारी के साथ निभाने की बात कह रहे हैं. आईएएस दिव्यांशु पटेल की ताबड़तोड़ निरीक्षण व कार्यवाही के बाद कर्मचारियों में भय व्याप्त है वही ऐसी कार्रवाई से जनता में दिव्यांशु पटेल को लेकर एक अच्छे अफसर के रूप में उभर कर सामने आ रहे हैं.