राम चरितमानस के बाद यूपी में हनुमान पर सियासत तेज, ओपी राजभर ने खुद को बताया बजरंगबली का वंशज..

178
op rajbhar

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के जमानीय विधानसभा इलाके के रानी दमयंती इंटर कॉलेज में सुहेलदेव की 1014वी जयंती समारोह का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर शामिल हुए थे. इस दौरान राजभर ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर तंज कसे.उन्होंने कहा कि सपा में वह लोग है जो अपनी बात कहना चाहते हैं लेकिन कह नहीं सकते और समाजवादी पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है. इस कार्यक्रम में उन्होंने मंच से बोलते हुए कहा कि हम हनुमान के वंशज हैं. उनके इसी बयान पर सवाल किया गया कि क्या राम के बाद अब हनुमान की भी राजनीति होगी.

देश में उनके लिए कोई आवास नहीं बन पाया

दरअसल आपको बता दें ओपी राजभर ने मंच से हनुमान के बंशज बताए जाने हैं के सवाल पर उन्होंने कहा कि भगवान राम के साथ वानर लड़े लेकिन देश में उनके लिए कोई आवास नहीं बन पाया उसी तरह आजादी के बाद कांग्रेस बीजेपी सपा बसपा को जिताया लेकिन शिक्षा के सवाल पर रोजगार के सवाल पर जो अति पिछड़ा वर्ग है इसको केवल इस्तेमाल किया जाता है ऐसा क्यों इनके साथ होता है इतिहास गवाह है अहिल्या और तारा दो सगी बहने हैं और अहिल्या की शादी गौतम से होती है और तारा की शादी बंदर से होती तो और ऐसे मां-बाप होगी जो एक बेटी की शादी इंसान और दूसरे की बंदर से करें तो नल नील अंगद सुग्रीव यह बाना नहीं इंसान थे वह भर वानर थे.