कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली का बड़ा बयान ‘लीडर के तौर पर कप्तान होने की जरूरत नहीं होती, आप महेंद्र सिंह धोनी को ही देख लीजिये’

416
Virat Kohli
Virat Kohli

साउथ अफ्रीका दौरे पर टेस्ट सीरीज में मिली हार के बाद विराट कोहली ने भारत की टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ दी थी. इससे पहले ही वह टी20 विश्व कप के बाद खेल के सबसे छोटे प्रारूप की कप्तानी भी छोड़ चुके थे और फिर उन्हें चयनकर्ताओं ने वनडे टीम की कप्तानी से हटा दिया था. विराट 2014 में टेस्ट टीम के कप्तान बने थे और फिर 2017 में उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी के इस्तीफा देने के बाद वनडे और टी20 टीम की कप्तानी संभाली थी. विराट के इस फैसले से सभी को हैरानी हुई थी. अब विराट सिर्फ एक बल्लेबाज के तौर पर खेलेंगे. लेकिन इसी बीच उन्होंने एक बड़ी बात कही है. उन्होंने कहा कि लीडर बनने के लिए जरूरी नहीं है कि कप्तान बना जाए.

विराट कोहली ने इस बीच इंडियन प्रीमियर लीग की अपनी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी भी छोड़ दी थी. उनकी कप्तानी को लेकर ये आलोचना हमेशा होती थी कि वह टीम इंडिया को आईसीसी खिताब नहीं दिला सके और आरसीबी को भी आईपीएल विजेता नहीं बना सके. उनकी कप्तानी में हालांकि टीम इंडिया ने टेस्ट में कई मुकाम हासिल किए थे.

कप्तानी छोड़ने के बाद कोहली ने धोनी का उदाहरण देते हुए लीडरशिप को लेकर अपनी बात रखी है. कोहली ने फायरसाइड चैट पर बात करते हुए कहा, “सभी चीजों का एक कार्यकाल और समय होता है. बेशक आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए. लोग कह सकते हैं कि ‘इस आदमी ने यह क्या कर दिया’ लेकिन आपको पता है कि जब आप आगे बढ़ने तथा और अधिक उपलब्धियां हासिल करने के बारे में सोचते हो, आपको महसूस होता है कि आपने अपना काम कर दिया है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘अब बल्लेबाज के रूप में शायद आप टीम के लिए अधिक योगदान दे सकते हो. आप टीम को अधिक जीत दिला सकते हो. इसलिए इस पर गर्व कीजिए. आपको एक लीडर के तौर पर कप्तान होने की जरूरत नहीं होती. ये बहुत आसान है. जब महेंद्र सिंह धोनी टीम में थे, तो ये नहीं था कि वह लीडर नहीं हैं. वह वो इंसान थे जिनसे हम लगातार इनपुट्स लेते रहते थे.”