WHO की रिपोर्ट के अनुसार ओमिक्रॉन वेरिएंट ने दुनियाभर में अब तक 500,000 लोगों की ली जान

    270
    World Health Organization
    World Health Organization

    WHO ने मंगलवार को देश में ओमिक्रॉन से हुई मौतों को लेकर खेद व्यक्त किया है. उन्होंने कहा, ओमिक्रॉन वेरिएंट की खोज के बाद से आधी मिलियन कोविड मौतें दर्ज की गई हैं. डब्ल्यूएचओ के प्रबंधक अब्दी महमूद ने कहा कि नवंबर के अंत में ओमिक्रॉन वायरस के आने के बाद से वैश्विक स्तर पर 130 मिलियन मामले और 500,000 मौतें दर्ज की गई हैं. महमूद ने डब्ल्यूएचओ के सोशल मीडिया चैनलों पर एक लाइव बातचीत में कहा, ‘प्रभावी टीकों के युग में, आधे मिलियन लोग मर रहे हैं, यह वास्तव में कुछ है.

    अब्दी महमूद ने आगे कहा, ‘जब हर कोई कह रहा था कि ओमिक्रॉन हल्का है. तब किसी ने इस बात पर ध्यान नहीं दिया कि ओमिक्रॉन के पता चलने के बाद से आधे मिलियन लोग मारे गए हैं. कोविड -19 पर डब्ल्यूएचओ की तकनीकी प्रमुख मारिया वान केरखोव ने कहा कि ज्ञात ओमिक्रॉनन मामलों की सरासर संख्या आश्चर्यजनक” थी. वान केरखोव ने कहा, ये संख्या बहुत अधिक होगी. हम अभी भी इस महामारी के बीच में हैं. कई देशों ने अभी तक ओमिक्रॉन के पीक को पार नहीं किया है. मंगलवार को बाद में जारी अपने साप्ताहिक कोविड -19 महामारी विज्ञान में, डब्ल्यूएचओ ने कहा कि पिछले सप्ताह लगभग 68,000 नई मौतें हुईं. पिछले सप्ताह की तुलना में सात प्रतिशत अधिक थी. इस बीच नए साप्ताहिक कोविड मामलों की संख्या 17 प्रतिशत घटकर लगभग 19.3 मिलियन हो गई.

    रिपोर्ट में कहा गया है कि लगभग सभी देशों में अब ओमिक्रॉन वेरिएंट का पता लगाया गया है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि पिछले 30 दिनों में एकत्र किए गए नमूनों में ओमिक्रॉन ने 96.7 प्रतिशत का योगदान दिया है, जिन्हें अनुक्रमित किया गया है और जीआईएसएआईडी वैश्विक विज्ञान पहल पर अपलोड किया गया है. डेल्टा अब सिर्फ 3.3 प्रतिशत बनाता है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ओमिक्रॉन के खिलाफ वैक्सीन के असर को लेकर सीमित डेटा उपलब्ध था.

    रिपोर्ट के अनुसार, दिसंबर 2019 में चीन में उभरने के बाद से कोविड -19 ने 5.7 मिलियन से अधिक लोगों की जान ले ली है, जबकि 392 मिलियन से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं.विश्व स्तर पर लगभग 10.25 बिलियन कोविड -19 वैक्सीन खुराक प्रशासित की गई.देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है.कल कोरोना के 67,597 नए मामले सामने आए थे.हालांकि, इस दौरान 1,188 लोगों की कोरोना से मौत भी हुई थी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान 1,80,456 मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं.देश में अब कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 10 लाख से कम हो गई है. कोरोना के अभी 9,94,891 एक्टिव केस हैं