IND vs AUS: शार्दुल ठाकुर-वॉशिंगटन सुंदर की जोड़ी का धमाका, 30 साल पुराना रिकॉर्ड किया ध्वस्त

179

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिसबेन में बॉर्डर-गावस्कर सीरीज का चौथा मैच खेला जा रहा है। ऑस्ट्रलिया की पहली पारी 369 पर समाप्त होने के बाद भारत ने पहली पारी में छह विकेट एक समय 186 रनों पर ही गंवा दिए थे। इस समय ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया पहली पारी में मजबूत लीड हासिल कर लेगा, लेकिन पहला टेस्ट खेल रहे वॉशिंगटन सुंदर और तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को कुछ और ही मंजूर था। दोनों ने ऋषभ पंत के आउट होने के बाद मोर्चा संभाला और सातवें विकेट के लिए अब तक नाबाद शतकीय साझेदारी पूरी कर ली है। इस दौरान दोनों ने इस मैदान पर 30 साल पुराना भारतीय रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है।

इस समय दोनों बल्लेबाज जिस तरह ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों की धुनाई कर रहे हैं, उसे देखकर ऐसा लग रहा है कि दोनों जल्द अपना करियर का पहला टेस्ट शतक भी पूरा कर लेंगे। दोनों खिलाड़ियों के बीच खबर लिखे जाने तक 118 रनों की साझेदारी हो चुकी है। इसके साथ ही दोनों ने ब्रिसबेन के गाबा मैदान पर पूर्व क्रिकेटर कपिल देव और मनोज प्रभाकर के 30 साल पुराने भारतीय रिकॉर्ड को तोड़ दिया। दोनों पूर्व क्रिकेटर ने उस समय सातवें विकेट के लिए 58 रन जोड़े थे। अब शार्दुल और वॉशिंगटन के नाम गाबा मैदान पर सातवें विकेट के लिए सबसे बड़ी भारतीय साझेदारी करने का रिकॉर्ड है।

दोनों खिलाड़ियों की साझेदारी से पहले भारत ने सुबह के सेशन में चेतेश्वर पुजारा (25) और कप्तान अजिंक्य रहाणे (37) तथा दूसरे सेशन में मयंक अग्रवाल (38) और ऋषभ पंत (23) के विकेट गंवाए। इन चारों बल्लेबाजों ने सकारात्मक शुरुआत की लेकिन वे बड़ी पारी नहीं खेल पाए जिसकी भारत को सख्त जरूरत थी। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोश हेजलवुड ने 43 रन देकर तीन विकेट लिए हैं। शुरुआत में सुंदर ने शॉर्ट पिच गेंदों का अच्छी तरह सामना किया और उन्होंने अपनी रक्षात्मक तकनीक से प्रभावित किया। इसी तरह ठाकुर भी ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों के सामने किसी तरह से दबाव में नहीं दिखे।