यूक्रेन ने युद्ध को टालने के लिए रूस से कहा-‘बॉर्डर से सैनिकों को पीछे खींच लो अगर युद्ध नही चाहते’

298
Ukraine-Russia conflict
Ukraine-Russia conflict

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जैसी स्थिति बनी हुई है. ऐसी आशंका है कि रूस इस देश पर हमला करके उसपर कब्जा कर लेगा. इस बीच यूक्रेन की तरफ से कहा गया है कि अगर रूस युद्ध नहीं चाहता तो वह पश्चिमी देशों के साथ बातचीत जारी रखे और यक्रेन की सीमा से अपने सैनिकों को पीछे खींच ले. देश के विदेश मंत्री दमित्रो कुबेला ने कहा, ‘अगर रूसी अधिकारी गंभीर हैं और वे कहते हैं कि एक नया युद्ध ना हो, तो रूस को राजनयिक जुड़ाव जारी रखना चाहिए और यूक्रेन की सीमाओं और यूक्रेन के अस्थायी रूप से कब्जे वाले क्षेत्रों में सैन्य बलों को वापस ले लेना चाहिए.’

रूस ने यूक्रेन से लगने वाली अपनी सीमा पर एक लाख से अधिक सैनिकों को तैनात किया हुआ है. जिनके पास भारी हथियार भी हैं. जिससे ऐसी संभावना है कि वह यूक्रेन पर कब्जा कर सकता है. अब कुबेला ने ट्वीट करते हुए कहा है, ‘कूटनीति ही एक जिम्मेदार तरीका बचा है.’ जबकि दूसरी ओर मॉस्को ने किसी तरह के कब्जे या हमले की बात से साफतौर पर इनकार किया है. उसका कहना है कि वह किसी तरह का युद्ध नहीं चाहता. लेकिन उसने अमेरिका और नाटो से सुरक्षा गारंटी मांगी है और गठबंधन के पूर्व की ओर विस्तार को रोकने के लिए कहा है.

इनमें वो एक गारंटी भी शामिल है, जिसमें कहा गया है कि नाटो नए सदस्यों को स्वीकार नहीं करेगा, विशेष रूप से यूक्रेन को. साथ ही अमेरिका पूर्व सोवियत देशों में नए सैन्य ठिकाने स्थापित नहीं करेगा. शनिवार को अपने फ्रांसीसी समकक्ष जीन-यवेस ले ड्रियन के साथ फोन पर बातचीत के दौरान, कुलेबा ने कहा कि मॉस्को के साथ बातचीत के दौरान ‘सतर्क और दृढ़’ रहना महत्वपूर्ण है. वहीं मामले में अमेरिका की तरफ से कहा गया है कि रूस अगले महीने फरवरी में यूक्रेन पर हमला कर सकता है.

एक तरफ यूक्रेन स्थिति को शांत करने के लिए कूटनीतिक तरीकों की वकालत कर रहा है, दूसरी तरफ पश्चिम से रूस के साथ अपनी बातचीत में ‘सतर्क और दृढ़’ रहने का आग्रह कर रहा है. हालांकि पश्चिमी देशों का कहना है कि वह यूक्रेन का साथ देंगे. अमेरिका और यूरोपीय संघ ने कहा कि यूक्रेन की रूस के हमले से रक्षा की जाएगी. अगर फिर भी रूस नहीं मानता और हमला या कब्जा करता है, तो उसे प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा. जो आर्थिक और रणनीतिक रूप से उसे निशाना बनाएंगे.