बॉलीवुड ड्रग्स केस’ की जांच में जुटी एनसीबी के दो अधिकारी सस्पेंड, मदद करने का है आरोप

435

बॉलीवुड ड्रग्स केस’ की जांच में जुटी एनसीबी टीम ने कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया की जमानत रद्द करने और उनकी कस्टोडियल इंट्रोगेशन के लिए एनडीपीसएस कोर्ट में याचिका डाल दी है। इसी बीच बड़ी खबर ये है कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने अपने दो अधिकारियों के खिलाफ भी सख्त एक्शन लेते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है। यह सस्पेंशन दोनों अधिकारियों की संदेहास्पद भूमिका को लेकर किया गया है। साथ ही उनके खिलाफ जांच के भी आदेश दिए गए हैं।

इन दोनों अधिकारियों की सस्पेंशन का कनेक्शन भारती सिंह और दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश के केस से जुड़ा हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इन अधिकारियों में से एक जाँच अधिकारी को कॉमेडियन भारती सिंह को सिक्योर बेल मिलने के मामले में, और दूसरे जाँच अधिकारी को अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिश्मा प्रकाश को मिली एंटी सिपेट्री बेल मिलने के मामले में संदेहास्पद भूमिका को लेकर सस्पेंड किया गया है। साथ ही उनके खिलाफ जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया जमानत याचिका सुनवाई के दौरान एनसीबी टीम मजिस्ट्रेट कोर्ट में हाज़िर ही नहीं हुई थी, और ना ही उनकी बेल को अपोज किया गया था। जिसके बाद हर्ष और भारती सिंह को आसानी से जमानत मिल गई थी। इस मामले में NCB ने NDPS कोर्ट में एप्लिकेशन देकर लोअर कोर्ट द्वारा दी गई बेल को खारिज करने और भारती सिंह और उनके पति हर्ष की कस्टोडियल इंट्रोगेशन के लिए अपील की है। एमसीबी की इस याचिका पर सुनवाई अगले हफ्ते होनी है।

वहीं, दीपिका पादुकोण की मैनेजर करिशमा प्रकाश के घर NCB की रेड के दौरान 3 सीबीडी ऑइल और गाँजे की कंजप्शन क्वॉन्टिटी बरामद हुई थी जिसके बाद करिश्मा प्रकाश ने गिरफ्तारी से बचने के लिए एन्टी सिपेट्री बेल डाली थी। और अबतक वो एंटीसिपेटरी बेल पर बाहर है।

इन दोनों ही मामलों को लेकर 2 जाँच अधिकारी संदेह के घेरे में हैं। जिसे लेकर NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के आदेश पर इन दो जाँच अधिकारियों को सस्पेंड कर उनके खिलाफ जाँच के आदेश दिए गए हैं।