दुनिया में एक और युद्ध होने की आहट, सर्बिया ने कोसोवो सीमा पर तैनात किया सैनिक..

150
WAR
WAR

यूक्रेन युद्ध के बाद यूरोप में एक और युद्ध की आहट तेज हो गई है दक्षिण पूर्वी यूरोपीय देश सर्बिया और कोसोवो के बीच टकराव बढ़ गया है सर्बिया ने भारी संख्या में सैनिकों की तैनाती कोसोवो सीमा पर की है उधर उतरी कोसोवो में सर्व या कम्युनिटी के लोगों ने मित्रों विकास शहर की सड़कों पर अवरोधक लगा दिए हैं दरअसल या शहर जातीय आधार पर विभाजित है यहां कोसोवो सर्व और जातीय अल्बानिया मैं संघर्ष होता रहा है यहां जाती अल्बेनिया की आबादी ज्यादा है अरबिया के रक्षा मंत्री मिलोस ने एक बयान में कहा सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वूसिक ने सर्बिया सेना को सीमा पर उच्चतम स्तर के लड़ाकू तत्परता यानी सशस्त्र बल के उपयोग के स्तर पर तैयार रहने का आदेश दिया है उन्होंने राइटर्स को बताया कि राष्ट्रपति ने कोसोवो सीमा पर सैनिकों की संख्या 1500 से बढ़ाकर 5000 करने का निर्देश दिया है साल 2008 में कोसोवो सर्बिया से आजाद हुआ है उसी समय से दोनों देश एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहते हैं कोसोवो का आरोप है कि सरकार उसके इशारे पर काम कर रहा है और उसे अस्त्र कर हड़पने की कोशिश में है।

दोनों देशों ने एक दूसरे पर फायरिंग करने का आरोप लगाया

फिलहाल आजादी के बाद से ही कोसोवो सरबिया पर उसके इशारे पर काम करने का आरोप लगाता रहा है 25 दिसंबर को दोनों देशों ने एक दूसरे पर फायरिंग करने का आरोप लगाया कोसोवो का आरोप है कि फायरिंग सर्बिया की तरफ से हुई जबकि सर्बिया का आरोप है कि खुश हो वह में तैनात नाटो के नेतृत्व वाली अंतरराष्ट्रीय सेना की तरफ से फायरिंग की गई थी इसके बाद दोनों देशों के रिश्ते और बिगड़ गए और दोनों के बीच जारी गतिरोध अभी युद्ध के मुहाने पर पहुंच गया है अगर इन दोनों देशों के बीच युद्ध की स्थिति है तो रोज और नाटो आमने सामने आ जाएंगे तब फिर से एक लंबे युद्ध की आशंका गहरी हो सकती है।