Russia-Ukraine War: टेनिस ITF का बड़ा एक्शन, अपने देश के झंडे तले नहीं खेल पाएंगे रूस-बेलारूस के खिलाड़ी

274

रूसी सेना की ओर से यूक्रेन में हमले के बाद दुनियाभर के खेल संघ रूस और उसका साथ दे रहे बेलारूस की टीमों और खिलाड़ियों को बैन कर रही है। फुटबॉल, बैडमिंटन के बाद अब टेनिस की दुनिया ने भी रूस और बेलारूस के खिलाफ कार्यवाही का ऐलान किया है। विश्व के सभी टेनिस संघों ने मिलकर रूस और बेलारूस की टीमों को अंतर्राष्ट्रीय टेनिस ईवेंट्स से बाहर कर दिया है। यही नहीं फैसला लिया गया है कि रूस और बेलारूस के खिलाड़ी यदि किसी टूर्नामेंट में भाग लेते हैं तो उनके देश का राष्ट्रीय ध्वज इस्तेमाल में नहीं लाया जाएगा और खिलाड़ी Neutral खिलाड़ियों के रूप में भाग लेंगे।ऐसे में हाल ही में विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी बने रूस के डेनिल मेदवेदेव और विश्व नंबर 6 रूस के एंड्री रुब्लेव आने वाले टूर्नामेंटों में अपने देश के ध्वज तले नहीं खेल पाएंगे।

ITF (International Tennis Federation) बोर्ड ने रूसी टेनिस फेडरेशन और बेलारूसी टेनिस फेडरेशन की सदस्यता सस्पेंड कर दी है और ITF की ओर से कराई जाने वाली डेविस कप प्रतियोगिता, बिली जीन कप जैसी टीम प्रतियोगिताओं से दोनों देशों का प्रतिभाग खत्म कर दिया है। खास बात ये है कि रूस की पुरुष टीम ने साल 2021 का डेविस कप का खिताब जीता था। वहीं पुरुष टेनिस संघ यानि ATP और महिला टेनिस संघ यानि WTA ने अक्टूबर में रूस के मॉस्को में होने वाले टूर्नामेंट को सस्पेंड कर दिया है। सभी अंतर्राष्ट्रीय टेनिस प्रतियोगिताओं, टेनिस ग्रैंड स्लैम में रूस और बेलारूस के खिलाड़ी न्यूट्रल खिलाड़ी के रूप में शिरकत करेंगे और इन दो देशों के राष्ट्रीय ध्वज का इस्तेमाल किसी भी तरह नहीं किया जाएगा। यह सस्पेंशन अनिश्चितकाल के लिए किया गया है।