सपा नेता मनीष अग्रवाल की जमानत हुई मंजूर, जेल से मिली रिहाई..

123
manish
manish

सोशल मीडिया पर महिलाओं के प्रतीक कथित अभद्र टिप्पणी करने के आरोपों में गिरफ्तार समाजवादी पार्टी के मीडिया प्रकोष्ठ के पदाधिकारी मनीष जगन अग्रवाल की सोमवार को जमानत मिलने के बाद शाम को जिला कारगर से रिहाई हो गई जिला कारगर लखनऊ के जेलर किशोर दीक्षित ने बातचीत में मनीष जगन अग्रवाल की रिहाई की पुष्टि की शांति भंग की धारा में सहायक पुलिस आयुक्त के यहां से जमानत मिलने के बाद अग्रवाल को रिहा कर दिया गया पुलिस सूत्रों के अनुसार सोमवार को सहायक पुलिस आयुक्त की अदालत से मनीष जगन अग्रवाल की जमानत मंजूर हो गई

सभी धाराओं में 7 वर्ष से कम की सजा का प्रावधान

दरअसल अग्रवाल की रिहाई के संदर्भ में एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि क्योंकि मामले में दर्ज सभी धाराओं में 7 वर्ष से कम की सजा का प्रावधान है इसलिए इसमें गिरफ्तारी का औचित्य नहीं था अग्रवाल की गिरफ्तारी शांति भंग के मामले में की गई थी इसलिए जमानत मुचलका भरने पर अदालत ने उनकी जमानत मंजूर कर दी उल्लेखनीय है कि अग्रवाल की गिरफ्तारी के बाद सपा मुखिया अखिलेश यादव रविवार को राज्य पुलिस मुख्यालय पहुंच गए थे और उनके साथ सपा के कार्यकर्ता भी अग्रवाल की तत्काल रिहाई की मांग को लेकर मुख्यालय के बाहर जमा हो गए इस दौरान करीब ढाई घंटे तक अफरा-तफरी की स्थिति रविवार की शाम को अखिलेश यादव अग्रवाल से मिलने लखनऊ गए थे